सवर्णों को भाजपा से अलग करने के लिए मीम चलाएंगे NOTA अभियान!



Posted On: November 2, 2018 in Category:
SIM cards seized from Ranchi (Photo Courtesy Telegraph)
ISD Bureau
ISD Bureau

आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा भारतीय जनता पार्टी का खेल बिगड़ने के लिए भांति-भांति की साजिश रचने का भांडा फूटने लगा है। ब्राह्मणों को भाजपा से अलग करने की साजिश के तहत नोटा अभियान चलाने की साजिश का भांडा फूट गया है। यह मामला तब सामने आया जब 10 हजार सिम कार्ड खरीदने वाले जावेद को एंटी टेररिस्ट स्क्वाड (एटीएस) ने रांची से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार जावेद ने ही पूछताछ के दौरान बताया है कि वह इतना सिम कार्ड इसलिए खरीदा है ताकि ब्राह्मणों के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर नोटा कैंपेन चला सके।

मुख्य बिंदु

* एटीएस ने 10 हजार सिम कार्ड खरीदने वाले जावेद को रांची से गिरफ्तार कर भांडा फोड़ा

* आने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी और भाजपा का खेल बिगाड़ने के लिए जातिगत साजिश की तैयारी

सिम कार्ड रैकेट का खुलासा तब हुआ जब एटीएस ने कांटा टोली के हसीबा एंक्लेव के एक फ्लैट और कांके के एक घर में छापेमारी की। इस छापेमारी में 7000 सिम कार्ड के साथ सिम बॉक्स भी बरामद हुए हैं। ये सारे सिम कर्ड पटना की एक कंपनी से दुबई निवासी जावेद अहमद ने खरीदे थे। इस ट्रांजेक्शन में कंपनी के अब्दुल जमीद नाम का शख्स भी शामिल था।

इस मामले को इसलिए गंभीर माना जाता है क्योंकि सिम कार्ड खरीदने वालों का तार दुबई से जुड़ा है। इससे साफ है कि आने वाले लोकसभा चुनाव पर विदेशी गैंग की भी नजर है। सीआईडी, एडीजी अरुण कुमार सिंह ने कहा कि यहा मामला गंभीर है इसलिए इसकी गहराई से जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसकी जांच के बारे में मीडिया में चर्चा नहीं की जा सकती है क्योंकि हो सकता है कि सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने के लिए या फिर आतंकी गतिविधियों को अंजाम दने के लिए ये सब किया गया हो।

URL: To separate Brahmins from BJP Muslims are to run NOTA campaign

Keywords: Nota, anti terrorist squad, Indian muslims, brahmins, ATS, 10000 sim card, ranchi, anti bjp campaign, नोटा, आतंकवाद निरोधक दस्ता, भारतीय मुसलिम, ब्राह्मण, एटीएस, 10000 सिम कार्ड, रांची, बीजेपी विरोधी अभियान,


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !

About the Author

ISD Bureau
ISD Bureau
ISD is a premier News portal with a difference.