अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के अलावा कई रक्षा सौदों की जानकारी को दबाए बौठे हैं गौतम खेतान!

तीन दिनों की हिरासत पूरी होने के बाद विशेष सीबीआई कोर्ट ने ब्लैक मनी तथा मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के आरोपी गौतम खेतान की हिरासत और पांच दिनों के लिए बढ़ा दी है। ईडी ने कोर्ट से मांग की थी कि खेतान अगस्ता घोटाले के अलावा कई रक्षा सौदों की जानकारी दबा रखी है। उस राज को जानने के लिए उसकी हिरासत बढ़ानी जरूरी है। विशेष सीबीआई कोर्ट के न्यायाधीश अरविंद कुमार ने ईडी की दलील को मानते हुए खेतान की हिरासत अवधि पांच दिनों के लिए बढ़ा दी है।

मालूम हो कि 25 जनवरी को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम (PMLA) के तहत गौतम खेतान को गिरफ्तार किया था। ईडी ने कोर्ट को बताया है कि खेतान के खिलाफ ब्लैक मनी तथा लॉन्ड्रिंग का जो आरोप लगा है वह 500 से 1000 करोड़ के बीच का है। अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के इतर भी कई डिफेंस डील में खेतान के शामिल होने की जानकरी मिली थी। ये डील यूपीए के कार्यकाल में हुई थी। वीवीआईपी चॉपर डील में खेतान का नाम सीबीआई और ईडी दोनों की चार्जशीट में शामिल है। खेतान को सितंबर 2014 में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद जनवरी 2015 में वह जमानत पर बाहर आया था। इसके बाद दिसंबर 2016 में सीबीआई ने खेतान और संजीव त्यागी को फिर से गिरफ्तार किया था।

वहीं विशेष सीबीआई अदालत में सुनवाई के दौरान खेतान के वकील पीके दुबे ने कहा है कि ब्लैक मनी के मामले में ईडी के पास कोई नया ग्राउंड नहीं है। उन्होंने ईडी पर झूठे दस्तावेज पेश करने का भी आरोप लगाया है। इसके साथ ही गौतम खेतान ने ईडी पर किसी भी रक्षा सौदों में यूपीए सरकार में किसी प्रभावी व्यक्ति को फंसाने के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया है। गौतम खेतान का कहना है कि उसे वह बंदर बना दिया गया है जिस पर देश के हर नए कानून की जांच आजमायी जाती है।

ईडी ने कहा है कि गौतम खेतान के पास अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के अलावा यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान हुई कई रक्षा सौदों की जानकारी है जो वह बताने से परहेज कर रहा है। ईडी ने कहा कि खेतान के पास जो ब्लैकमनी है वह इन्ही रक्षा सौदों से अर्जित है। गौतम खेतान के पास कई अवैध विदेशी बैंक खाते होने के साथ ही देश विदेश में सैकड़ों करोड़ की संपत्ति है।

ईडी का कहना है कि खेतान से ये सारी जानकारी हासिल करना जरूरी है, अगर ऐसा नहीं हुआ तो फिर इस जांच को प्रभावित करने की कोशिश होने के साथ ही पीएमएल के तहत दायर केस के सबूत भी नष्ट कर दिए जाएंगे। ईडी ने कोर्ट से कहा है खेतान उन सारे लोगों को जानते हैं जो अगस्ता वेस्टलैंड घोटालों के अलावा अन्य रक्षा सौदों से जुड़े रहे हैं।

मालूम हो कि दुबई से प्रत्यर्पित कर लाए गए अगस्ता वेस्टलैंड के मुख्या आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने भी पूछताछ के दौरान गौतम खेतान का नाम लिया था। खेतान के पास ऐसी कई और जानकारियां हैं, जो अन्य सौदों को संभालने वाले लोग उसके संपर्क में थे।

ईडी ने कहा कि इस मामले के तहत न केवल अलग लेन-देन की जांच हो रही है बल्कि विभिन्न लेन-देन की जांच की जा रही है। ईडी का कहना है कि तीन दिनों के पूछताछ के दौरान उन्हें कई नए एकाउंट के बारे में जानकारी मिली है, जिसके तह में जाना जरूरी है। इस जानकारी के तहत निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि सबूतों के साथ छेड़खानी हुई। ईडी ने कहा कि यह जांच एक अहम मोड़ पर पहुंच चुकी है। ऐसे में अगर ईडी को खेतान से इन सब मामले में पूछताछ करने का अवसर नहीं दिया गया तो यह जांच गलत दिशा में चली जाएगी और फिर जांच को प्रभावित कर दिया जाएगा।

URL : ED gets 5 days more custody to quiz accused Khaitan!

Keywords : ED, PMlA, gautam Khaitan, special cbi court, augusta westland scam

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs. या अधिक डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  

For International members, send PayPal payment to [email protected] or click below

Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबर