TEXT OR IMAGE FOR MOBILE HERE

मोदी सरकार से नफरत और विनोद दुआ का फेक न्यूज! और कितना गिरेंगे ‘पेटीकोट पत्रकार’?

हाल ही में द वायर से निकाले गए यौन उत्पीड़न के आरोपी विनोद दुआ ने एचडब्ल्यू न्यूज (HW news) वेबसाइट ज्वाइन करते ही अपना फेक न्यूज का व्यापार शुरू कर दिया है। विनोद दुआ ने फेक न्यूज के तहत मोदी सरकार के सबसे सफल मंत्रियों में शुमार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को टार्गेट किया है। दुआ ने उनके एक इंटरव्यू  के वीडियों से छेड़छाड़ कर उन्हें मोदी सरकार का बागी  बताने का दुष्प्रचार करना शुरू कर दिया है।

अपने इंटरव्यू में जहां गडकरी ने यूपीए सरकार के समय के सैकड़ों प्रोजेक्ट अटकने की बात कही थी, लेकिन दुआ ने एडिट कर उसे मोदी सरकार के खिलाफ बता दिया। और गडकरी को एक प्रकार से मोदी सरकार का बागी मंत्री के रूप में प्रोजेक्ट कर दिया। दुआ का यह दुष्प्रचार मोदी सरकार से उसकी नफरत का ही एक उदाहरण है। फेक न्यूज के सहारे दुआ का यह दुष्प्रचार अनवरत रूप से चलता आ रहा है। अपनी पत्रकारिता को रसातल पहुंचाने वाले ये पटीकोट पत्रकार कितना नीचे गिरेंगे इसका अब थाह लगना भी मुश्किल होता जा रहा है।

ये वही विनोद दुआ है जो पद्मश्री अवार्ड हासिल करने के ऐवज में यूपीए सरकार के 10 सालों के दौरान उसके घोटाले और काली करतूतों पर पर्दा डालता रहा। ये वही विनोद दुआ है जो यूपीए सरकार के 12 करोड़ रुपये के घोटाले पर रिपोर्टिंग करने से बचने के लिए पेट फुलाकर देश भर में घूम-घूम कर गोश्त और बिरियानी खाता रहा। ये वही विनोद दुआ है जो दूसरों पर लांक्षण और फेक न्यूज चलाता रहा, और जब खुद पर एक महिला फिल्म निर्माता ने यौन शोषण का आरोप लगाया तो उन्हें ही बदनाम करने पर तुल गया। मी-टू मामले में केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर से इस्तीफा देने की मांग करने वाला विनोद दुआ अपने पर लगे इल्जाम के बाद तब तक डंटा रहा, जब तक द वायर ने परोक्ष रूप से बाहर का रास्ता नहीं दिखा दिया। फेक न्यूज फैलाना इसका पुराना शगल रहा है। अब जब अमेरिकी फंड से चलने वाला एचडब्ल्यू न्यूज वेबसाइट ज्वाइन किया है तो वहां भी उसने अपना फेक न्यूज का कारोबार फैलाना शुरू कर दिया है।

यहां पर अपने फेक न्यूज का पहला शिकार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को बनाया है। लेकिन इस बार उसका दांव उलटा पड़ चुका है। क्योंकि नितिन गडकरी के ऑफिस से जारी बयान ने उसकी फेक न्यूज की सारी पोल पट्टी खोल दी है। नितिन गडकरी के दफ्तर से उनके साक्षात्कार का असली वीडियो जारी कर बताया गया है कि किस प्रकार विनोद दुआ ने मोदी सरकार से अपनी अनहद नफरत के कारण नितिन गडकरी को मोदी सरकार के खिलाफ होने का प्रोपगेंडा फैलाया है। उपरोक्त दोनों वीडियो से आप खुद भी दुआ की फेक न्यूज मानसिकता को जान जाएंगे। आप खुद भी विनोद दुआ के प्रोपगेंडा और नितिन गडकरी की वास्तविकता से वाकिफ हो जाएंगे। दुआ ने गडकरी के साक्षात्कार के साथ छेड़खानी कर यूपीए सरकार के अटकाए प्रोजेक्ट और एनपीए को मोदी सरकार के गंगा अभियान का प्रोजेक्ट बना दिया। जबकि अपने साक्षात्कार में नितिन गडकरी ने बहुत ही स्पष्ट रूप से यूपीए सरकार के दौरान अटकाए गए रोड और हाईवे प्रोजेक्ट के बारे में बताया है।

विनोद दुआ के काले कारनामों के कारण अपनी पोल खुलती देश एचडब्लू न्यूज ने अपनी पोल पट्टी खुलती देख इसपर स्पष्टीकरण जारी किया है। उसने जो स्पष्टीकरण जारी किया है वह भी अपने आप विचित्र ही है। इससे साफ जाहिर होता है कि इसका पत्रकारिता और न्यूज से दूर-दूर तक का कोई रिश्ता ही नहीं है। अमेरिकी फंड से चलने वाली यह वेबसाइट भी मोदी सरकार के खिलाफ फेक न्यूज के सहारे दुष्प्रचार करने के अभियान में शामिल है। तभी तो उसने मोदी सरकार के खिलाफ सबसे बड़े दुष्प्रचारक विनोद दुआ को अपने यहां नौकरी दी है। एचडब्ल्यू न्यूज ने दुआ को बचाते हुए सारा दोष अपने ऊपर ले लिया है। अपने स्पष्टीकरण में वेबसाइट ने कहा है कि इसमें दुआ की कोई गलती नहीं है क्योंकि उन्हें वीडियो की क्लिपिंग ही अधूरी भेजी गई थी। और दुआ ने उसी अधूरी क्लिपिंग के आधार पर अपना शो कर बैठे। वेबसाइट भले ही झूठ बोल ले लेकिन उसका यह झूठ किसी को पचने वाला नहीं है, क्योंकि गडकरी के साक्षात्कार वाला वीडियो सोशल मीडिया पर उपलब्ध है। ऐसे में साफ हो जाता है कि विनोद दुआ ने जानबूझ कर मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए नितिन गडकरी के वीडियो के साथ छेड़खानी कर दुष्प्रचार करने का प्रयास किया है।

विनोद दुआ की इस करतूत के बारे में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने स्वयं भी फेसबुक पोस्ट लिखकर इसकी निंदा की है। उन्होंने अपने पोस्ट के माध्यम से सारे पेटिकोट पत्रकारों को आडे़ हाथ लिया है। उन्होंने लिखा है “पिछले कुछ दिनों से कुछ विरोधी दल और मीडिया का एक तबका मुझे और मेरी पार्टी को बदनाम करने के लिए मेरे बयानों को तोड़मरोड़ कर राजनीतिक रूप से प्रेरित निष्कर्ष निकालने का कुटिल अभियान चला रखा है, मैंने पहले भी इस प्रकार के आक्षेप का दृढ़ता से खंडन किया है और एक बार फिर अपने ऊपर लगाए गए इस प्रकार के झूठे और शरारतपूर्ण आक्षेप की घोर निंदा करता हूं । ” अपने फेसबुक पोस्ट में गडकरी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि उनके और भाजपा नेतृत्व के बीच किसी प्रकार की खटास पैदा करने की साजिश कभी सफल नहीं होगी। उन्होंने कहा कि वह हर मंच से अपनी स्थिति स्पष्ट करते रहे हैं और वे ऐसा करना जारी रखेंगें तथा अपने विरोधियों के नापाक मंसूबों को बेनकाव करते रहेंगे।

प्वाइंट वाइज समझिए

विनोद दुआ का फेक न्यूज व्यापार

* यौन शोषण के आरोपी विनोद दुआ ने फिर शुरू किया फेक न्यूज का कारोबार

* इस बार अमेरिकी फंड से चलने वाली एचड्ब्ल्यू न्यूज वेबसाइट को बनाया ठौर

* केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को बनाया फेक न्यूज का अपना पहला शिकार

* नितिन गडकरी पर साधा गया दांव इस बार भारी पड़ गया

* अगले दिन दुआ की बेशर्मी ढकने को एचडब्ल्यू न्यूज वेबसाइट ने ली बदनामी

* गडकरी के साक्षात्कार के वीडियो के साथ छेड़कानी कर किया था दुष्प्रचार

* कडकरी के ऑफिस ने रियल वीडियो जारी कर सारी पोल पट्टी खोल कर रख दी

* यौन शोषण के आरोप लगने पर द वायर से निकाल दिया गया था विनोद दुआ

* पद्मश्री अवार्ड के एवज में यूपीए सरकार के घोटालों पर डालता रहा है पर्दा

* मोदी सरकार से नफरत करने वाला दुआ सोनिया दरबार का काटता रहा चक्कर

URL : vinod dua maliciously edits video of gadkari against modi govt!

विनोद दुआ संबंधित अन्य खबरें-

अब ‘अमेरिकी फंड’ से प्रधानमंत्री मोदी को गरियाएंगे ‘यौन शोषक’ विनोद दुआ!

Keyword : fake news creator, sexual harrasing, accused, vinod dua, HW News, mischievous reporting, nitin gadkari, central minister, modi govt, यूपीए सरकर,

आदरणीय मित्र एवं दर्शकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 1 से 10 तारीख के बीच 100 Rs डाल कर India speaks Daily के सुचारू संचालन में सहभागी बनें.  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार
Popular Now