Category: पाॅप कल्चर

0

फिल्म समीक्षा: संजीदा वायलन पर दर्द भरी धुन का ऐहसास कराता Super 30

‘आनंद के शहर की लाइब्रेरी में विदेशी जर्नल्स नहीं आते इसलिए वह दूसरे शहर के कॉलेज की लाइब्रेरी में जाकर जर्नल पढ़ता है। लाइब्रेरियन उसे पकड़ लेता है और धक्के देकर बाहर निकाल देता...

0

राजामौली वापस लाएंगे राष्ट्रवाद का ट्रेंड!

फ़िल्म एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जिस पर एक ट्रेंड अधिक समय नहीं चलता। राष्ट्रवादी फिल्मों का ट्रेंड अब जाता दिख रहा है। इस ट्रेंड का सबसे अधिक लाभ ‘उरी’ को हुआ था। उस वक्त...

0

स्पाइडर का रोमांटिक जाल!

सिनेमा के परदे पर पीटर पारकर और एमजे का टीनएज रोमांस देखते-देखते सत्रह साल का हो चुका है। इन सत्रह सालों में पीटर और उसकी टीम दो बार ‘रिबूट’ हो चुकी है। स्पाइडरमैन की...

3

फिल्म समीक्षा : सच्चा है आर्टिकल 15 और झूठी है ये फिल्म!

भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को स्वछंदता समझ लिया गया है। ये स्वछंदता हिन्दी फिल्मों द्वारा बेझिझक अपनाई जाती है। कल प्रदर्शित हुई ‘आर्टिकल 15’ इसी तरह की बेलगाम अभिव्यक्ति है। फिल्म में ऐसे...

0

ताकि आपके जीवन में मंदिर की सुगंध हो, कब्रिस्तान की गंध नहीं!

ध्यान का यदि आप लगातार अभ्यास करते हैं तो आपकी अनेक इंद्रियां सजग और काफी संवेदनशील हो जाती हैं। जैसे मेरी घ्राण शक्ति बेहद संवेदनशील हो चुकी है, और इसके कारण मुझे काफी परेशानियां...

0

फिल्म समीक्षा : इस भारत में ‘भारत देश’ का मज़ाक बनाया गया है

स्टेशन मास्टर पिता की आत्मा से मिलने के बाद ‘भारत’ अपने जनरल स्टोर से बाहर आता है और एक हथौड़ा उठाकर स्टोर तोड़ना शुरू कर देता है। भारत की अजीबोगरीब जीवन यात्रा का ये...

0

फिल्म समीक्षा : एवेंजर्स एंड गेम-‘एंड गेम’ के लिए ‘रोमांच’ से भी बड़ा शब्द गढ़ना होगा!

मार्वल स्टूडियो की ‘एवेंजर्स – एंड गेम’ देखने का अहसास ऐसा है, मानो सदियों लम्बे सपने से जागना। यकीन मानिये, सन 2008 से चला आ रहा ये खूबसूरत ख़्वाब टूटे, ऐसा दर्शक कभी नहीं...

0

गुजराती और मराठी परिवारों के बीच वैचारिक मतभेद आपको गुदगुदाएगी!

संजीव कुमार झा। पुणे की पृष्ठभूमि पर आधारित सोनी सब के नए पारिवारिक मनोरंजन शो ‘भाखरवड़ी’ में मराठी और गुजराती परिवारों के बीच वैचारिक मतभेदों को हास्यास्पद अंदाज में दिखाया जा रहा है। ये...

0

करियर की शुरुआत में ही ‘भारत’ जैसी फिल्म का हिस्सा बन जाने पर क्या सोचती है दिशा पटानी

संजीव कुमार झा सुशांत सिंह राजपूत के अपोजिट साल 2016 में फिल्म ’एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी’ से हिंदी फिल्मों में डेब्यू करने वाली दिशा पटानी उससे पहले तेलुगू फिल्म ‘लोफर’ में काम...

0

जो मरकर भी ज़िंदा है, उस पर आधारित है फिल्म ‘अनवांटेड’!

पूर्वी उत्तरप्रदेश, बिहार और बंगाल में ऐसे लोगों की तादाद लगभग पचास हज़ार हैं जो मरकर भी जीवित हैं। कहने का मतलब इन तीन राज्यों में ऐसे लोग भी रहते हैं जो कागज़ों पर...

0

फ़िल्म समीक्षा: कैप्टन मार्वल, आकाशगंगा में विचरती अत्याधुनिक सभ्यताओं के बीच महायुद्ध की गाथा

एवेंजर्स का अपना अलग ही संसार है। आकाशगंगाओं में विचरती अत्याधुनिक सभ्यताओं के बीच महायुद्ध की ये गाथा रोमांचक ढंग से समाप्ति की ओर बढ़ रही है। कैप्टन अमेरिका, आयरन मैन, ब्लैक पैंथर, स्पाइडर...

0

अक्षय कुमार की ‘पैडमैन’ की नकल कर जीत लिया ऑस्कर अवार्ड

एक विदेशी निर्देशिका द्वारा भारत के एक गांव पर बनाई गई शार्ट डाक्यूमेंट्री ‘पीरियड: एंड ऑफ़ सेंटेंस को ऑस्कर अवार्ड से नवाज़ा गया है। भारत में मासिक धर्म को लेकर उपजी समस्याओं पर आधारित...

0

ट्विटर पर मशीनी ‘घोड़े’ से कंगना को फर्जी राष्ट्रवादी बताना, वामी-हताशा की पराकाष्ठा है!

कंगना रनौत की फिल्म ‘मणिकर्णिका : द क्वीन ऑफ़ झाँसी की शूटिंग के दौरान लिए गए एक वीडियो से राष्ट्रवादियों के देशप्रेम को फर्जी बताने की बेशर्म परंपरा शुरू हो गई है। नकली घोड़े...

0

फिल्म समीक्षा: गुदगुदाती ‘टोटल धमाल’ पाक में प्रदर्शित नहीं हुई तो प्रो-पाकी उसे फ्लॉप कराने में जुटे!

पैनिक भास्कर समेत कई मीडिया संस्थानों ने ‘टोटल धमाल’ को बेहूदा फ़िल्म बताया है। उसके निम्नलिखित कारण हैं। १: राष्ट्रवादी अजय देवगन इस फ़िल्म के निर्माता हैं। २: माधुरी दीक्षित को भाजपा में लाने...

0

केसरी अपना ‘नगाड़ा’ बजाने के लिए तैयार है

सैनिक का वास्तविक शौर्य उस वक्त सामने आता है, जब पराजय निश्चित हो। इतिहास ऐसी असंख्य रणभूमियों का गवाह बना है, जिनमे शत्रु प्रबल था लेकिन शूरवीरों ने हार नहीं मानी। सारागढ़ी की लड़ाई...

0

भारत और श्रीलंंका के हिंदू तीर्थ यात्री कम खर्चे पर कर सकेंगे एक-दूसरे देशों की यात्रा!

  रामायण के नायक राम के मर्यादा पुरुषोत्तम बनने की कहानी लंका के बिना पूरी नहीं हो सकती। हर हिंदु की चाहत होती है उस अशोक वाटिका को देखने की जहां माता सीता को...

0

फिल्म समीक्षा : ये गली बॉय ‘होपलेस’ है

मुझे हैरानी है कि सेंसर बोर्ड की पैनी निगाहों से ये गाना बचकर कैसे निकल गया। कल प्रदर्शित हुई फिल्म ‘गली बॉय’ का ये गाना आज के हिंदुस्तान का बखान करता है।  गीतकार ने...

0

बॉक्स ऑफिस पर भी मोदी का मुकाबला करेंगे राहुल गाँधी

कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता राहुल गाँधी पर फिल्म बन गई है और जल्द ही प्रदर्शित होने जा रही है। और आपको जानकर आश्चर्य होगा कि ये फिल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनाई जा...

0

फिल्म समीक्षा: वेलेंटाइन के मौसम में ‘अलिटा’ से प्यार हो सकता है

अलिटा एक साइबोर्ग है। साइबोर्ग यानि आधा मनुष्य और आधा रोबोट। अलिटा को ‘यूगो’ से प्यार है लेकिन यूगो पैसों का लालची है। एक दिन अलिटा ‘डार्क मैटर’ से बना कृत्रिम दिल निकालकर यूगो...

0

केंद्रीय मंत्री ने किया कन्फेडरेशन ऑफ यंग लीडर्स (CYL) वेबसाइट के नए संस्करण को लांच!

वैश्विक शिक्षा तथा जानकारी देने में हमेशा से अग्रणी रही कन्फेडरेशन ऑफ यंग लीडर्स (CYL) वेबसाइट एक बार फिर अपने नए रंग रूप में लोगों के सामने आई है। नए कलेवर के साथ नए संस्करण...

ताजा खबर
गॉसिप

MORE