Category: आजाद भारत

0

नेहरू ने सुरक्षा परिषद में ही नहीं, चीन के परमाणु शक्ति संपन्न बनने में भी की थी मदद!

देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन की स्थायी सदस्यता के लिए किस तरह अंतरराष्ट्रीय लाॅबिंग की थी, यह कल आपने इंडिया स्पीक्स डेली पर पढ़ा। आज आपको...

0

जवाहरलाल नेहरू ने सुरक्षा परिषद में चीन की कैसे की थी लाॅबिंग, पढ़िए सीआईए के एक अधिकारी का खुलासा!

कल चौथी बार चीन ने सुरक्षा परिषद में पाकिस्तानी आतंकवादी व जैश-ए-मोहम्मद के संस्थापक मसूद अजहर के पक्ष में वीटो का इस्तेमाल कर भारत द्वारा उसे वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की कोशिशों को रोक...

0

गांधी जी और शास्‍त्री जी में कुछ समानता, लेकिन ढेर सारी असमानता!

महात्‍मा गांधी व लालबहादुर शास्‍त्री- दोनों की जयंती एक ही दिन होती है। दोनों में कुछ बातें समान थीं, जैसे- दोनों बेहद सादगी से जीते थे और दोनों स्‍वयं के प्रति ईमानदार थे। दोनों...

0

लालबहादुर शास्त्री की मौत से पर्दा उठाने के तीन गंभीर प्रयास!

शास्त्री की मौत को लेकर हाल-फिलहाल तीन गंभीर प्रयास किए गये हैं। पहला, केंद्रीय सूचना आयोग ने शास्त्री जी के अंतिम संस्कार और पोस्टमार्टम के बारे में जानकारी मांगने को सही बताते हुए इसे...

0

गुलामी के चाबुक और युद्ध के नश्तर सहे तब जाकर बना आज का समर्थ भारत!

1962 का साल भारत भूमि की देह पर बड़ी सी खरोंचे छोड़ गया था। पड़ोसी ने पीछे से वार किया। देश का तत्कालीन प्रधानमंत्री चीन की मक्कारी भांपने में नाकाम रहा। नाकामी ऐसी कि...

0

आपातकाल का धूमकेतु राजनारायण!

रामबहादुर राय। राजनारायण और इंदिरा गांधी में एक समानता है। सिर्फ एक ही। नहीं तो ये दोनों राजनीति के दो समानान्तर पथ हैं। जो मिलते नहीं, साथ–साथ अपने–अपने जीवन मूल्यों से संचालित होते रहे...

0

आपातकाल की बरसी: इंदिरा ने हमेशा ही लोकतंत्र के खिलाफ काम किया!

देश के लोकतंत्र पर आघात करने वाला आपाताकाल को लगे हुए 43 साल गुजर गए, लेकिन देश के लोकतंत्र को बनाए रखने के लिए वह नजारा आज भी याद आ ही जाता है। आपातकाल...

0

महात्मा गांधी से लेकर राहुल गांधी तक, कांग्रेस के DNA में ही नहीं है लोकतंत्र!

कर्नाटक प्रकरण को लेकर आज-कल लोकतंत्र और उसकी हत्या का शोर हर जगह मचा है! शोर मचाने वालों में कांग्रेस और उसके अध्यक्ष राहुल गांधी सबसे आगे दिखते हैं! जबकि कांग्रेस के इतिहास पर...

0

आंबेडकर का दलितिस्तान बन चुका है, बस इसकी घोषणा बाकी है!

दयानंद पांडेय। फर्क यही है कि जिन्ना देश तोड़ने में तभी सफल हो गए थे! अंबेडकर अब सफल होते दिख रहे हैं। जिन्ना के पाकिस्तान की ही तरह दलितिस्तान का मुद्दा अंबेडकर ने उठाया...

0

तो क्या गाँधी की हत्या के बाद महाराष्ट्र में ब्राह्मणों का नरसंहार नेहरू की सुनियोजित चाल थी?

रामेश्वर मिश्र पंकज। एक विचित्र स्थिति पैदा हो गई है, हम सभी जानते हैं कि ऋषियों और ब्राह्मणों के कुल में ही राक्षस भी हुए हैं परंतु आधुनिक शिक्षा के असर से इस तथ्य...

0

शेख अब्दुल्ला ने कश्मीर घाटी को जिहाद में ढकेला था, अब उसके बेटे-पोते जिहादी जुबान बोल रहे हैं

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने धमकी दी है कि यदि इस राज्य से धारा-35ए हटाया जाएगा, तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे! यानी वह भारत गणराज्य और देश के संविधान को धमकी...

0

माक्सवादी इतिहासकारों और अन्य बुद्धिजीवियों की जुगलबंदी ने जान बूझ कर अटकाया है राम मंदिर की राह में रोड़ा!

कविता नायर-फोंडेकर। फिलहाल यह कहना कठिन है कि अयोध्या मसले को आपसी बातचीत से सुलझाने की कोई कोशिश होगी या नहीं, लेकिन यह स्पष्ट है कि जब भी ऐसी कोई बातचीत होगी तो कुछ...

0

1962 चीन युद्ध में आर्मी चीफ के मना करने के बाद भी नेहरू और मेनन ने सैकड़ों सैनिकों को युद्ध की आग में झोंक दिया था!

अविनाश वाजपेयी। साठ के दशक में नेहरू के आंकलन के विपरीत चीन सिंगकियांग तिब्बत रोड के पश्चिम में सत्तर मील आगे बढ़ आया और चार हज़ार वर्ग किलो मीटर का क्षेत्र अपने कब्जे में...

0

इंदिरा गांधी ने देश पर दल को प्राथमिकता देते हुए चुनाव हारने के डर से नोटबंदी का निर्णय टाल दिया था!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कांग्रेस पार्टी की पोल खोलते हुए कहा कि कांग्रेस के लिए हमेशा देश से बड़ा दल रहा है। भाजपा संसदीय दल को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा...

0

इंदिरा गांधी को रिहा और जनता पार्टी की सरकार को बर्खास्त कराने के लिए कांग्रेस नेताओं ने किया था विमान का अपहरण!

नागेश्वर सिंह बघेल। 20 दिसम्बर 1978 की है लखनऊ से दिल्ली जाने वाली इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या IC 410 को लखनऊ से उड़ने के चंद मिनटों बाद हाईजैक कर लिया गया इस फ़्लाइट...

0

जब इंदिरा गांधी ने टीआरपी के लिए अपने मित्र युनुस खान के बंगले पर तमाशा खड़ा किया!

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टीआरपी राजनीति करने का आरोप लगाया था। राहुल गांधी अपनी बिना काम की व्यस्तता के कारण भले देश का इतिहास न पढ़ पाए हों, लेकिन कम से...

1966 का वह गो-हत्‍या बंदी आंदोलन, जिसमें हजारों साधुओं को इंदिरा गांधी ने गोलियों से भुनवा दिया था!

देश के त्याग, बलिदान और राष्ट्रीय ध्वज में मौजूद भगवा रंग से पता नहीं कांग्रेस को क्‍या एलर्जी है कि वह आजाद भारत में संतों के हर आंदोलन को कुचलती रही है। आजाद भारत...

1974 में अपने पहले सवाल में ही स्वामी ने छीना था सोनिया का बिजनस, इस बार तो प्रधानमंत्री मोदी का भी साथ है!

करीब दो दशक बाद डा सुब्रहमनियन स्वामी आज संसद में एक सांसद के रूप पहुंचेंगे। पहली बार 1974 में जनसंघ ने डा स्वामी को राज्यसभा भेजा था। आप जानते हैं राज्यसभा में सबसे पहला...

मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए पंडित नेहरू ने जब बाबा साहब डॉ भीमराव आंबेडकर की बात नहीं मानी! ‪

चूंकि रोहित वेमुला मामले में मीडिया और सभी वितंडावादियों का झूठ पकड़ा गया. तेलंगाना सरकर व पुलिस ने अदालत को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसमें साफ कहा गया है कि रोहित दलित नहीं था....

पूर्वी पाकिस्‍तानी (अब बंगलादेश ) घुसपैठियों को भारत में बनाए रखने की मंजूरी पंडित नेहरू ने दी थी

अजय कुमार, यथावत के लिए असम और पूर्वोत्तर के बांग्लादेशी सीमा से लगे राज्यों में घुसपैठ की समस्या कांग्रेस पार्टी की अदूरदर्शिता का नतीजा है, जिसने हमेशा वोट बैंक और तुष्टिकरण की नीति को...

समाचार
Popular Now