Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: विश्व इतिहास

0

विनाशपर्व भारतीय वस्त्र उद्योग को तार – तार किया अंग्रेजों ने

प्रशांत पोळ। हजार – दो हजार वर्ष पहले, जब भारत विश्व व्यापार में सिरमौर था, तब उस व्यापार का एक बड़ा हिस्सा था – कपड़ा उद्योग का. चाहे सूती वस्त्र हो, या रेशम –...

0

इंग्लैंड में पहला स्कूल 1811 में खुला उस समय भारत में 732000 गुरुकुल थे । खोजिए हमारे गुरुकुल कैसे बन्द हुए?

गुरुकुल कैसे खत्म हो गये? आपको पहले ये बता दे कि हमारे सनातन संस्कृति परम्परा के गुरुकुल मे क्या क्या पढाई होती थी ! आर्यावर्त के गुरुकुल के बाद ऋषिकुल में क्या पढ़ाई होती...

0

विनाशपर्व अंग्रेजों ने नष्ट किया भारत का समृध्द नौकायन उद्योग / २

प्रशांत पोळ| रॉबर्ट बेरोन वोन हेन गेल्डर्न (१८८५-१९६८), इस लंबे चौड़े नाम वाले एक जाने-माने ऑस्ट्रियन एंथ्रोपोलॉजिस्ट हुए हैं. इनकी शिक्षा-दीक्षा विएना विश्वविद्यालय में हुई. आगे चलकर १९१० में ये भारत और बर्मा देशों...

0

ब्रिटेन का धोखा, यहूदियों का संघर्ष और इज़राइल का निर्माण! (भाग 1)

सुमंत विद्वांस। इज़राइल की भूमि पर आधिपत्य के सांप्रदायिक संघर्ष का इतिहास सैकड़ों वर्ष पुराना है। लेकिन इन दिनों जो राजनैतिक संघर्ष चल रहा है, वह लगभग डेढ़ सौ वर्ष पूर्व आरंभ हुआ था।...

0

विनाशपर्व अंग्रेजों ने नष्ट किया भारत का समृध्द नौकायन उद्योग / १

प्रशांत पोळ. प्रख्यात अर्थशास्त्री प्रो. अंगस मेडिसन ने अपने ग्रंथ ‘द हिस्ट्री ऑफ वर्ल्ड इकॉनोमिक्स’ में विश्व के व्यापार की परिस्थिति भिन्न – भिन्न कालखण्डों में क्या थी, इसका प्रत्यक्ष प्रमाणों के साथ वर्णन...

0

जिजीविषा, तेरा नाम – इजराइल!

प्रशांत पोळ इस दुनिया में मात्र दो ही देश धर्म के नाम पर अलग हुए हैं. या यूं कहे, धर्म के नाम पर नए बने हैं. वे हैं – पाकिस्तान और इजराइल. दोनों के...

1

अरब-इजरायल संघर्ष का इतिहास और इजरायल की जिजीविषा!

सुधीर कुमार पाण्डेय। एक गलती जो श्राप बन गई और दो हजार सालों से यहूदियों के कत्लेआम की वजह बनी रही अगर आज इजराइल और फिलिस्तीन के बीच जारी संघर्ष को समझना है तो...

0

पर्सियन साम्राज्य के पराभव से कब सीखेंगे हिंदू!

पुष्कर अवस्थी। भारत के पश्चिम में, मध्यपूर्व एशिया जो इस्लामिक राष्ट्र ईरान है, वहां आज से 1360 वर्ष पूर्व अग्नि पूजक रहते थे जो ज़रथुष्ट्री धर्म के अनुयायी थे और उन्हें ज़ारोऐस्ट्रीअन कहा जाता...

0

मजदूर दिवसः कम्युनिस्टों की तानाशाही स्थापना का बस एक उपकरण था मई दिवस!

आज पहली मई है। पहली मई को पूरी दुनिया के मजदूर इसे ‘मजदूर दिवस’ या ‘मई दिवस’ के रूप में मनाते हैं। इसकी शुरुआत एक यूटोपिया समाज की रचना को लेकर हुआ था, जिसकी...

0

सोवियत संघ के ढ़हने के 25 साल: गोर्वाच्योब ने सोवियत संघ को तोड़कर ‘स्टालिनवाद’ से आखिर किस बात का लिया था बदला?

26 दिसंबर 1991 को सोवियत संघ टूट कर बिखर गया। दुनिया की एक तिहाई आबादी को तानाशाहीपूर्ण साम्यवादी व्यवस्था के अधीन लाने वाले सोवियत संघ के बिखरने का कारण क्या रहा? परमाणु शक्ति से...

दुनिया में कई ऐसे तानाशाह हुए, जिन्होंने असंख्य मानवों की लाश पर खड़े होकर अट्टहास किया!

दुनिया में ऐसे तमाम तानाशाह हुए हैं, जिनके इशारों पर खून की नदियां बहा दी गईं, जिन्होंने लाखों लोगों को मौत के घाट उतरवा दिया, जिन्होंने असंख्य मानवों की लाश पर खड़े होकर अट्टहास...

ताजा खबर