Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: सनातन हिंदू धर्म

3

अहल्या के मामले में पीड़ित कौन है?

कल दशहरा बीत गया और जैसा जाहिर था कि एक बार फिर राम जी को नीचा दिखाने के कुप्रयास के साथ यह दिवस समाप्त हुआ. यह तय ही था कि आज ही फिर से...

1

अयोध्या को सजाने और संवारने में जुटी योगी सरकार

लखनऊ, 3 सितंबर: कोटि-कोटि सनातनी आस्था की प्रतीक अवधपुरी अपने खोए हुए वैभव को प्राप्त करने को सज-संवर रही है। करीब पांच शताब्दियों की प्रतीक्षा के उपरांत अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य...

1

रामायण काल में किस प्रकार का आभूषण पहनती थीं महिलाएं!

कंकन किंकिनि नूपुर धुनि सुनि। कहत लखन सन रामु हृदयँ गुनि॥मानहुँ मदन दुंदुभी दीन्ही। मनसा बिस्व बिजय कहँ कीन्ही॥ राम कंगन की ध्वनि सुनकर लक्ष्मण से कह रहे हैं कि मानो कामदेव ने विश्व...

0

युवा पीढ़ी जान गई कि श्री राम कपोल कल्पना नहीं हैं!

रामायण का अर्थ होता है, राम का अयण। अयण का अर्थ होता है ‘भ्रमण’। राम जी का संपूर्ण वैश्विक भ्रमण और उससे उपजी घटनाओं ने कालांतर में रामायण का रूप लिया। इस समय भारतवर्ष...

0

राम जी का ‘अयण’ एक पवित्र उद्देश्य पूर्ति के लिए किया गया था!

रामायण का अर्थ होता है, राम का अयण। अयण का अर्थ होता है ‘भ्रमण’। राम जी का संपूर्ण वैश्विक भ्रमण और उससे उपजी घटनाओं ने कालांतर में रामायण का रूप लिया। इस समय भारतवर्ष...

0

सिर्फ भारत ही नही, पूरे विश्व में गूंज रही है जय श्री राम की प्रतिध्वनि!

राम मंदिर का भूमि पूजन समारोह शुरू हो चुका है. इस स्वर्णिम अवसर पर ऐसा आभास हो रहा है जैसे संपूर्ण आकाश में शंख नाद की सैंकड़ों प्रतिध्वनियां गूंज उठी हों, जैसे संपूर्ण ब्रह्मांड...

1

अयोध्या की प्रतीक्षा!

मनु की बसी अयोध्या एक बार पुन: अपने वैभव पर इठला रही है।  मनु ने जब इस नगर को बसाया होगा तो कभी भी यह विचार न किया होगा कि यहाँ पर एक ऐसा...

1

प्रेमी और पति राम – II

जानकी के वियोग में राम व्याकुल हैं. उन्हें नहीं ज्ञात है कि कहाँ जा सकती हैं जानकी? और क्या कहेगा समूचा विश्व, क्या मुख लेकर वह वापस अयोध्या जाएंगे? राम के दुःख का कोई...

0

प्रेमी और पति राम – I

“एक बार चुनि कुसुम सुहाए, निज कर भूषन राम बनाए,सीतहिं पहिराए प्रभु सादर, बैठे फटिका सिला पर सुन्दर!” वनवास में सीता का ह्रदय श्रृंगार का हो रहा है और प्रभु मंद मंद मुस्करा रहे...

0

राम ही हैं रखवाले संस्कृति के

कहा जाता है कि भारत में दो ही भाषाएँ बोली जाती हैं। एक है रामायण और एक है महाभारत। रामायण और महाभारत भाषा कैसे हो सकती हैं? यह उस वर्ग का विशेष सवाल रहा...

2

घनघोर अंधकार की रात में रामायण हमारे लिए एक दीप की भांति प्रज्जवलित है

रामानंद सागर की ‘रामायण‘ जब कोरोना काल में पुनः प्रसारित हुई तो उसने जनमानस को इस खतरनाक वायरस से लड़ने का संबल दिया। राम और सीता के अनुपम निश्छल चरित्र को देख लोग रो...

3

Yogi Govt Takes On Lutyens Media, Files FIR Against The Wire Editor

India Speaks Daily, in the morning, had given a video on Supreme Court’s concern over fake news on Chinese virus. By evening, the Uttar Pradesh police has filed FIR against “The Wire” Editor Siddharth...

2

Hindu Temples, Filmstars, Sportspersons Rally To Fight Chinese Virus In India

As the deadly Chinese virus is spreading its tantacles across India, several Hindu temples, filmstars and sportspersons, have committed financial help to the state and central governments, in their fight against the deadly disease....

0

आपकी सोच आपकी अगली पीढ़ी को पत्थर की तरह जड़ बना सकती है, पानी की तरह प्रवाहमान नहीं!

मैंने अपने बेटे को विमान से पढ़ने के लिए क्या भेजा, देख रहा हूं कि कुछ लोग अपने-अपने अनुभव लिख कर मुझे सिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि भैया बेटे को फौलाद बनाइए।...

0

आज का कुंभ मेला ऋग्वेद में घटित घटनाओं की ही भव्य रचना है!

प्रयागराज में ऋग्वेद से चला आ रहा कुंभ मेला आरंभ हो चुका है, इसकी महत्ता के बारे में तो अधिकांश लोग अवगत होंगे लेकिन इसकी रचना के बारे में शायद कम ही लोग जानते...

3

मूल मनु-स्मृति के रचयिता महाराज मनु नहीं थे! तो फिर कौन थे?

मैंने परसों एक प्रश्न पूछा था कि मनु-स्मृति के रचयिता कौन थे, और इसका उल्लेख सर्वप्रथम किस ग्रंथ में आया है? मुझे दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि एक भी जवाब सही...

0

भगवान कृष्ण ने शरद पूर्णिमा की आधी रात को वृंदावन में 16000 गोपिकाओं के साथ किया था रास!

हेमंत शर्मा। इस महारास की खासियत थी कि हर गोपिका को कृष्ण के साथ नाचने का आभास था, उनका आनंद अटूट था। ‘निसदिन बरसत नैन हमारे. सदा रहत पावस ऋतु हम पर जब ते स्याम...

0

अपार शक्ति के बावजूद राम मनमाने फैसले नहीं लेते, वे लोकतांत्रिक हैं।

पूर्व में जनसत्ता में काम करने और हिंदी के बड़े आलोचक वनामवर सिंह के शिष्य होने के कारण कुछ लोग वरिष्ठ पत्रकार और लेखक हेमंत शर्मा को वामपंथी कह देते हैं, लेकिन यह सच...

0

काशी में खुदाई के दौरान मिल रहे हैं तीन से पांच हजार साल पुराने मंदिर!

अवनीश पी. एन. शर्मा।  श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर काॅरिडोर के काम के तहत अधिग्रहित भवनों के तोड़े जाने के दौरान हैरान करने वाली तस्वीरे सामने आ रही हैं। जिसमें चंद्रगुप्त काल से लेकर लगायत मंदिरों...

0

आखिर शिव में ऐसा क्या है, जो उत्तर में कैलास से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम तक वो एक जैसे पूजे जाते हैं?

शिव गुट निरपेक्ष हैं. सुर और असुर दोनों का उनमें विश्वास है. राम और रावण दोनों उनके उपासक हैं।आखिर शिव में ऐसा क्या है, जो उत्तर में कैलास से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम तक...

ताजा खबर