Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: इतिहास

0

10 मई 1857: इतिहास की सबसे गौरवपूर्ण तिथियों में से एक तिथि

Sonali Misra. आज 10 मई है! एक ऐसी तिथि जिस तिथि पर सम्पूर्ण भारत वर्ष को गर्व है, जिस पर इस पूरे इतिहास को गर्व है। यह वह तिथि है जिस पर इतराने का...

0

ग्रांड ट्रंक रोड के असली नायक: चन्द्रगुप्त मौर्य

Sonali Misra. क्या ग्रांड ट्रंक रोड वाकई शेरशाह सूरी ने बनाई थी? यह प्रश्न आपके मन में बार बार इसलिए कौधना चाहिए क्योंकि यही वाक्य हमें इतिहास में सिखाया जाता है। पर भारत का...

0

गांधी जी और कांग्रेस ने मजहबी हिंसा को पनपने का अवसर दिया: एनी बेसेंट

कभी कभी इतिहास अपने आप को दोहराता है | क्या कांग्रेस ने तुस्टीकरण की नीति महात्मा गाँधी से सीखी थी | इसके लिए मैं इतिहास के पन्नों के कुछ अंश आपके सामने रखना चाहता...

0

राजस्थान दिवस पर विशेष! राजस्थानी-साहित्य और युद्ध-कौशल आलेख

कमलेश कमल. वीरों की भूमि राजस्थान की छटा सच ही इंद्रधनुषी है। पर, यह भी सच है कि राजस्थान का नाम सुनते ही मन में पाठ्य-पुस्तकों में वर्णित शौर्य, वीरता, ओज के किस्से ही...

0

अकबर का वह क्रूर चेहरा जिसे जानबूझकर छुपाया गया!

पद्मिनी गङ्गा अकबर के समय तोके इतिहास लेखक अहमद यादगार ने लिखा “बैरम खाँ ने निहत्थे और बुरी तरह घायल हिन्दू राजा हेमू के हाथ पैर बाँध दिये और उसे नौजवान शहजादे के पास...

0

हिन्दुओं को निर्बल करने के लिए बनाए गए अन्य क़ानून

Sonali Misra. ब्रिटिश सरकार हर तरीके से हिन्दुओं को नष्ट करना चाहती थी। उसका निशाना और भी स्थानों पर था। और वह भी प्रशासन के माध्यम से! भारत में मंदिर न केवल धन अपितु...

0

हिन्दुओं को कानूनों से निर्बल किया गया

Sonali Misra. वर्ष 1857 का समय साधारण नहीं था, वह एक ऐसा वर्ष था जिसने तत्कालीन ईसाई शक्ति को यह सोचने पर विवश कर दिया था कि अब उन्हें आगे क्या करना है? क्योंकि...

0

कृष्ण जन्मभूमि मथुरा का मंदिर देखकर दंग रह गया था लुटेरा महमूद गजनवी

लीलाधर कृष्ण की जन्मस्थली मथुरा में बने भव्य मंदिर को देखकर लुटेरा महमूद गजनवी भी आश्चर्यचकित रह गया था। उसके मीर मुंशी अल उत्वी ने अपनी पुस्तक तारीखे यामिनी में लिखा है कि गनजवी...

2

नोआखली में हिन्दुओं के निर्दयी वीभत्स नरसंहार के विरुद्ध जो प्रतिकार हुआ, उसे जानें।

बात 16 अगस्त की है, मुसलमानों ने कलकत्ता व आसपास के क्षेत्रों में जघन्यता व बेरहमी से हिन्दुओं का कत्ल किया था, यह कथानक तो सब पढ़ समझ ही चुके होंगे, कहानी इसके बाद...

0

मोदी जी अब तो अहमदाबाद का नाम कर्णावती कर दीजिए!

Sonali Misra. किसी भी देश के राज्यों और जिलों के नाम उसके गौरव एवं इतिहास के प्रतीक होते हैं। परन्तु भारत के साथ ऐसा नहीं है। आज भी हमारे यहाँ नालंदा को जलाने वाले...

0

भारत सोने की चिड़िया, सिनौली उसका एक स्वर्ण पंख, जो शताब्दियों से प्रतीक्षारत था

इस अज्ञात सभ्यता की स्त्रियां वीरोचित स्वभाव की थी। वे रण में जाकर अपना युद्ध कौशल दिखाती थी।

1

भारतीय साधु की ऐतिहासिक तस्वीर को लेकर alt news के संस्थापक ने झूठ फैलाया

वामपंथी वेबपोर्टल alt news के संस्थापक प्रतीक सिन्हा एक बार फिर झूठ बोलते पकड़े गए हैं। 23 नवंबर को प्रतीक सिन्हा ने एक ट्वीट किया।

2

प्राचीन भारत :सनातन का एक प्रतीक अरब की रेत में आज भी अडिग खड़ा है

दो बड़ी चट्टानों के बीच से एक cut लगाया गया था। ये cut खोजियों के लिए सिरदर्द बना हुआ है।

0

आरोग्य के धन्वंतरि

धनतेरस लक्ष्मी और आरोग्य का त्यौहार है। दोनो इस साल ज़बर्दस्त संकट में है। लक्ष्मी बाज़ार और घर से ग़ायब है।तो आरोग्य को लेकर समाज दहशत में है। दुनिया की सेहत पर कोरोना का...

0

राखीगढ़ी की खुदाई में मिले उत्खनन सामग्री ने एक बार फिर आर्यों को विदेशी बताने वालों को किया बेनकाब

[ हृदयनारायण दीक्षित ]: झूठ का अस्तित्व नहीं होता। स्वार्थी तत्व अपने हित साधन में झूठ का प्रचार करते हैं, लेकिन सत्य बार-बार अपना अस्तित्व प्रकट करता है। ऐसा ही एक झूठ ब्रिटिश सत्ता के समर्थक...

1

संसार का सबसे बड़ा हरम, जहाँ घोड़े से सस्ती बिकती थी लड़कियां!

हरम! हमारे सामने जैसे ही हरम का नाम आता है, उसे लेकर पश्चिमी इतिहासकारों में हमेशा से ही एक आकर्षण रहा है। यह आकर्षण इतना ज्यादा है कि इसी बात पर मुगल सुल्तानों को...

1

हिन्दुओं में लड़की ब्याहने पर मिलेगा मृत्युदंड – जहाँगीर

इतिहास में गंगा जमुना तहजीब के चलते कई झूठी बातों को हमें घुट्टी के रूप में पिलाया गया है। जहाँगीर (real name Nur-ud-din Muhammad Salim) को हिन्दुओं के प्रति अति न्यायप्रिय घोषित किया है,...

1

गांधी नहीं बल्कि सुभाष चंद्र बोस ने दिलाई थी देश को आजादी, अंबेडकर ने बी बी सी के साथ अपने एक पुराने इंटरव्यू में ऐसा कहा

जब भारत पर से अंग्रेज़ी शासन हटने की बात आती है, तो अधिकांश लोगों के ज़ेहन में गांधी की छवि उतर आती है. और ऐसा होना लाज़िमी भी है. जितनी भी स्कूली पुस्तकों में...