Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: धर्म

3

अहल्या के मामले में पीड़ित कौन है?

कल दशहरा बीत गया और जैसा जाहिर था कि एक बार फिर राम जी को नीचा दिखाने के कुप्रयास के साथ यह दिवस समाप्त हुआ. यह तय ही था कि आज ही फिर से...

0

माननीय सुप्रीम कोर्ट मीडिया पर प्रतिबंध की जगह, संदेह में घिरे ‘जकात फाउंडेशन ऑफ इंडिया’ की जांच का आदेश दें!

आईएसडी नेटवर्क। कल माननीय सुप्रीम कोर्ट में सुदर्शन चैनल के यूपीएससी जेहाद कार्यक्रम के प्रसारण पर रोक लगा दिया। रोक लगाने से अच्छा सुप्रीम कोर्ट सुदर्शन टीवी के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाण के आरोप...

1

अयोध्या को सजाने और संवारने में जुटी योगी सरकार

लखनऊ, 3 सितंबर: कोटि-कोटि सनातनी आस्था की प्रतीक अवधपुरी अपने खोए हुए वैभव को प्राप्त करने को सज-संवर रही है। करीब पांच शताब्दियों की प्रतीक्षा के उपरांत अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य...

0

एक भूतपूर्व ईसाई की कहानी

भारत में यूं तो धर्म परिवर्तन की बहुत सी कहानियां सुनने को मिलती हैं कि अमुक हिंदू व्यक्ति या परिवार ने  क्रिश्चियन मिशनरियों से प्रभावित हो हिंदू धर्म त्याग कर ईसाई धर्म अपना लिया....

0

‘विश्व मूल निवासी दिवस’, सिर्फ दिवस या भारत के जनजातीय समाज को देश के विरुद्ध खड़ा करने के लिये रचा गया एक षड्यंत्र?

भारत के जनजातीय समाज की क्रिश्चियन मिशनरियों द्वारा धड़ल्ले से चल रही जन परिवर्तन की मुहिम एक ऐसा सत्य है जिसके बारे में जानते तो सब हैं लेकिन इसे प्रमाणित करने के लिये मीडिया...

0

आंध्र प्रदेश में क्रिश्चियन मिशनरियों द्वारा खुल्लम खुल्ला चलाया जा रहा है धर्म परिवर्तन का एजेंडा, कहा आंध्र प्रदेश के एक सांसद ने

भारत में धर्मांतरण या धर्म परिवर्तन का मुद्दा हमेशा से ही एक बहुत ही संवेदनशील और विवादास्पद मुद्दा रहा है. दक्षिण भारत में और भारत के तटवर्ती इलाकों में हिंदुओं को ईसाई धर्म में...

1

रामायण काल में किस प्रकार का आभूषण पहनती थीं महिलाएं!

कंकन किंकिनि नूपुर धुनि सुनि। कहत लखन सन रामु हृदयँ गुनि॥मानहुँ मदन दुंदुभी दीन्ही। मनसा बिस्व बिजय कहँ कीन्ही॥ राम कंगन की ध्वनि सुनकर लक्ष्मण से कह रहे हैं कि मानो कामदेव ने विश्व...

1

शून्य में जगत की महानतम शक्ति का आविर्भाव होता है!

ओशो – शास्त्रों और संतों का कहना है कि पर-स्त्रीगमन करने से साधक का पतन होता है और साधना में उसकी गति नहीं होती। इस मूलभूत विषय को समझने का प्रयास करें!

0

जूडो की कला कहती है, मारो मत। जब कोई मारे, तो उसके सहयोगी हो जाओ!

जूडो की कला कहती है, मारो मत। जब कोई मारे, तो उसके सहयोगी हो जाओ! उसको दुश्मन मत मानो। मानो कि जैसे वह अपने ही शरीर का एक हिस्सा है। और तब थोड़ी ही...

0

युवा पीढ़ी जान गई कि श्री राम कपोल कल्पना नहीं हैं!

रामायण का अर्थ होता है, राम का अयण। अयण का अर्थ होता है ‘भ्रमण’। राम जी का संपूर्ण वैश्विक भ्रमण और उससे उपजी घटनाओं ने कालांतर में रामायण का रूप लिया। इस समय भारतवर्ष...

0

राम जी का ‘अयण’ एक पवित्र उद्देश्य पूर्ति के लिए किया गया था!

रामायण का अर्थ होता है, राम का अयण। अयण का अर्थ होता है ‘भ्रमण’। राम जी का संपूर्ण वैश्विक भ्रमण और उससे उपजी घटनाओं ने कालांतर में रामायण का रूप लिया। इस समय भारतवर्ष...

2

सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी नहीं मानेगी All india muslim personal law board!

आज जब पूरे विश्व के हिन्दू अपने प्रभु श्री राम के 500 वर्षों उपरान्त अयोध्या में मंदिर के उल्लास में मगन है, वह उस विजय में मगन हैं, जिस विजय को उन्होंने इतने वर्षों...

0

सिर्फ भारत ही नही, पूरे विश्व में गूंज रही है जय श्री राम की प्रतिध्वनि!

राम मंदिर का भूमि पूजन समारोह शुरू हो चुका है. इस स्वर्णिम अवसर पर ऐसा आभास हो रहा है जैसे संपूर्ण आकाश में शंख नाद की सैंकड़ों प्रतिध्वनियां गूंज उठी हों, जैसे संपूर्ण ब्रह्मांड...

1

अयोध्या की प्रतीक्षा!

मनु की बसी अयोध्या एक बार पुन: अपने वैभव पर इठला रही है।  मनु ने जब इस नगर को बसाया होगा तो कभी भी यह विचार न किया होगा कि यहाँ पर एक ऐसा...

1

प्रेमी और पति राम – II

जानकी के वियोग में राम व्याकुल हैं. उन्हें नहीं ज्ञात है कि कहाँ जा सकती हैं जानकी? और क्या कहेगा समूचा विश्व, क्या मुख लेकर वह वापस अयोध्या जाएंगे? राम के दुःख का कोई...

0

प्रेमी और पति राम – I

“एक बार चुनि कुसुम सुहाए, निज कर भूषन राम बनाए,सीतहिं पहिराए प्रभु सादर, बैठे फटिका सिला पर सुन्दर!” वनवास में सीता का ह्रदय श्रृंगार का हो रहा है और प्रभु मंद मंद मुस्करा रहे...

0

राम ही हैं रखवाले संस्कृति के

कहा जाता है कि भारत में दो ही भाषाएँ बोली जाती हैं। एक है रामायण और एक है महाभारत। रामायण और महाभारत भाषा कैसे हो सकती हैं? यह उस वर्ग का विशेष सवाल रहा...

0

शिव कहते हैं, उस अस्तित्व को स्वयं में पाकर समाधि का सुख उपलब्ध होता है। OSHO

तुम्हारे भीतर से जब तुम बाहर की तरफ जाते हो तो चीजें एक दूसरे से दूर होती जाती हैं, फासला बढ़ता जाता है। इसलिए हजार तरह के विज्ञान पैदा हो गये हैं, होंगे ही;...

0

बुद्ध कहते थे, बरस रहा है अमृत, लेकिन कुछ हैं, जो अपने घड़ों को उलटा रखे बैठे हैं।

जिस दिन घड़ा सीधा होगा, उस दिन अमृत बरसने लगेगा, ऐसा नहीं है। अमृत तो उस दिन भी बरस रहा था, जिस दिन आप घड़ा उलटा किए थे। वहां भी बरस रहा था, जहां कोई...

ताजा खबर