Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: धर्म

0

श्री मनकामेश्वर महादेव अद्भुत आध्यात्मिक भव्य यात्रा !

डॉक्टर विनीत अवस्थी । अद्भुत, आशातीत व अकल्पनीय होता है वह अनुभव जब वह अगम अनादि मंद हास्य करते हुए एक अदृश्य डोर से आपको वहां खींच कर खड़ा कर दे जिसकी आपने कभी...

0

सीताराम गोयल विचार श्रृंखला! #3

इस तथ्य में कोई संदेह नहीं कि इस्लाम का अल्लाह “झूठे देवताओं” तथा उन स्थानों को नष्ट करने की अनुमति देता है तथा इसे उचित ठहराता है जहां उनकी पूजा की जाती है। पैगंबर...

0

सीताराम गोयल विचार श्रृंखला! #2

हमारे मार्क्सवादी प्रोफेसर्स और सेक्युलरिज्म के अन्य ठेकेदार एक बड़ी भूल कर रहे होते है जब वे इस्लाम के गुनाहों के बचाव में किसी न किसी आर्थिक या/और राजकीय कारण का आविष्कार कर लेते...

0

सीताराम गोयल विचार श्रृंखला! #1

वास्तव में, जिहाद करने की जरूरत केवल इसलिए पैदा होती है क्योंकि काफिर लोग मुहम्मद के अल्लाह के बजाए अपने-अपने आराध्यों की पूजा- उपासना करते हैं। इसलिए, जब तक उन सभी पूजा-स्थलों को नष्ट...

0

परमकल्याण के कारक शनिदेव

श्वेता पुरोहित । शनिदेव परमकल्याण कर्ता न्यायाधीश और जीव का परमहितैषी ग्रह माने जाते हैं। ईश्वर पारायण प्राणी जो जन्म जन्मान्तर तपस्या करते हैं, तपस्या सफ़ल होने के समय अविद्या, माया से सम्मोहित होकर...

0

श्रीहरि भगवान के गोविन्दा नाम का रहस्य !

श्वेता पुरोहित । एक अत्यंत रोचक घटना है, माँ महालक्ष्मी की खोज में भगवान विष्णु जब भूलोक पर आए, तब यह सुंदर घटना घटी। भूलोक में प्रवेश करते ही, उन्हें भूख एवं प्यास मानवीय...

0

श्री विष्णु सहस्रनाम मंत्र और इसके लाभ

कई बार हम इन समस्याओं से काफी परेशान हो जाते हैं। धर्म ग्रंथों में इन परेशानियों से बचने के लिए अनेक उपाय बताए गए हैं। ऐसा ही एक उपाय है विष्णु सहस्त्रनाम का जाप।...

0

काशी विश्वनाथ धर्म युद्ध का एक बड़ा योद्धा!

आज ज्ञानवापी परिसर के अंदर जो हमारा ही तीर्थक्षेत्र अविमुक्तेश्वर विश्वेश्वर का आदि स्थान और ज्ञानोद तीर्थ की पवित्र भूमि है। विध्वंस और आलगीर मस्जिद का अस्तित्व हमारे तीर्थ की सत्यता पर भारी आखिर...

0

ज्ञॉनवापी मुद्दे पर जिस इतिहास के रथ पर चढ़ने का प्रयास हो रहा है. वो रथ और उसका वाहक व्यास परिवार ही है

“माना की मेरा घर जमींदोज करने में तुम सफल हो गए ! हमारा मन्तव्य बीच में ही लड़खड़ा गया ! तुम्हारे जुल्मों के खिलाफ मैं अकेला हूं, मगर फैसला अभी कुरूक्षेत्र के मैदान में...

0

भारत के 13 बड़े संग्राम, जिनसे बदल गया हिन्दुस्थान

अनिरुद्ध जोशी ‘शतायु’ प्राचीन जम्बूद्वीप से लेकर आज का हिन्दुस्तान संपूर्ण क्षेत्र हिन्दुस्थान था अर्थात हिन्दुओं का स्थान। इस क्षेत्र में भारतवर्ष के भारतीयों ने कई बड़े युद्ध और संघर्ष झेले हैं। हिन्दू इन...

0

पैगंबर मोहम्मद ने नहीं किया था कुरान और हदीस का संग्रह!

प्रो. रामेश्वर मिश्र पंकज। पैगम्बर मुहम्मद साहब की जीवनी उनकी मृत्यु के लगभग 100 साल बाद लिखी गई। कुरान का संग्रह और भी बाद में किया गया। जब उस्मान ने खुरासान में अपने कुछ...

0

Europe Inquisition की भयावहता जानिए!

Yindu Ren. ये Europe Inquisition पर आधारित है, इस में स्पष्ट लिखा है कि पूरे यूरोप से तत्कालीन मूर्ति-प्रकृति पूजक समाज (Pagan) को खत्म कर के कैसे ईसाई बनाया गया, इस के लिए चर्च...

0

भगवान नरसिंह के प्रकाट्य दिवस पर स्वामी नरसिंहानंद जी से भेंट!

भगवान विष्णु के क्रोधावतार थे भगवान नरसिंह देव। भगवान नरसिंह प्रकट उत्सव पर धर्मपत्नी Shweta Deo के साथ आज डासना गया और मां एवं महादेव का आशीर्वाद लिया। आधुनिक समय में स्वामी नरसिम्हानंद गिरी...

0

भगवान नरसिंह देव के प्रकटीकरण दिवस पर जानिए कि उन्होंने कहां मारा था हिरण्यकशिपु को! और वो स्थान आज कहां है?

भगवान विष्णु के चतुर्थ अवतार भगवान नरसिंह देव के प्रकटोत्सव पर सभी सनातनियों को ढेर सारी शुभकामनाएं। भगवान नरसिंह ने वैशाख माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि पर प्रकट होकर भक्त प्रह्लाद की रक्षा...

0

ॐ नमः शिवायः रावण कृत शिव तांडव स्तोत्र अर्थ सहित।

जटाटवीग लज्जलप्रवाहपावितस्थलेगलेऽवलम्ब्यलम्बितां भुजंगतुंगमालिकाम्‌। डमड्डमड्डमड्डम न्निनादवड्डमर्वयंचकार चंडतांडवं तनोतु नः शिवः शिवम ॥1॥ सघन जटामंडल रूप वन से प्रवाहित होकर श्री गंगाजी की धाराएँ जिन शिवजी के पवित्र कंठ प्रदेश को प्रक्षालित (धोती) करती हैं, और...

0

ज्ञानवापी तीर्थ का स्कंद पुराण के काशी खण्ड पूर्वार्ध में वर्णन !

श्वेता पुरोहित। ईशानके द्वारा ज्ञानोद (ज्ञानवापी) तीर्थका प्राकट्य, ज्ञानवापी की महिमाके प्रसंगमें सुशीला (कलावती)-की कथा, काशीके विविध तीर्थोका वर्णन विविध तीर्थों का वर्णन अगस्त्यजी बोले-स्कन्द! अब आप ज्ञानोद सहर तीर्थका माहात्म्य बतलाइये, क्योंकि स्वर्गवासी...

0

माता सीता जन्मोत्सव विशेष.माता सीता के जन्म से जुड़ी कथा और वाल्मीकि रामायण।

श्वेता पुरोहित । सीता नवमी वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को कहते हैं। धर्म ग्रंथों के अनुसार इसी दिन सीता का प्राकट्य हुआ था। इस पर्व को “जानकी नवमी” भी कहते हैं।...

1

ज्ञानवापी और कबजेदारों का अंधविश्वास।

आनंद राजाध्यक्ष। चार अलग मुद्दों के संदर्भों से बात स्पष्ट होगी, आप से धैर्य से पढ़ने की प्रार्थना है। (१) वर्षों पहले जब इस्लाम का नाम लेकर फ़ेसबुकपर लिखना संभव था तब मैंने दर...

0

इस्लामिक आक्रमकता के क्या कारण हैं इस्लामिक आक्रमकता से बचने के लिए भारत को क्या करना चाहिए

दीपक कुमार द्विवेदी दुनियाभर मे सिंतबर 2001 के बाद 13000 हजार से अधिक आंतकवादी हमले हो चुके हैं इन हमलों मे हजारों निर्दोष नागरिक लहूलुहान हो गए हैं और जाने कितनो की जान चली...

0

ज्ञानवापी मस्जिद में वीडियोग्राफी कराने का कोर्ट का आदेश, मुस्लिमों की कमिटी ने कहा – नहीं करने देंगे, परिणाम भुगतने के लिए तैयार

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद विवाद में स्थानीय कोर्ट द्वारा मस्जिद का वीडियोग्राफी कराने के निर्णय का अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद (प्रबंधन समिति) ने विरोध करने का निर्णय...

ताजा खबर