Watch ISD Live Now   Listen to ISD Podcast

Category: धर्म

0

वाणी और उसके प्रकार

वाणी चार प्रकार कि होती है यथा परा, पश्यंती, मध्यमा और वैखरी. परा वाणी अश्रव्नीय, अननुमेय,अप्रतर्क्य तथा अदृश्य है. यह वाणी का मूल रूप है और आत्मा के साथ एक रूप है.जब श्रृष्टि  का आविर्भाव...

0

सनातन धर्म की प्यास लोगों में है, बस वो समझ नहीं पाते कि यात्रा कैसे और कहां से आरंभ करें?

ये जिम्मेदारी जिस संत समाज के ऊपर थी, क्षमा के साथ कहना चाहूंगा कि वो कहीं न कहीं इसे पूरा करने में असमर्थ रहे हैं! आधुनिक बाबाओं ने आर्थिक साम्राज्य तो बड़े खड़े कर...

0

धर्म के लिए जब विष्णु ने शिव से अपने ही एक अवतार का वध करवा दिया !

वरं प्राणपरित्याग: शिरसो वाथ कर्तनम्।न तु धर्मपरित्यागो लोके वेदे च गर्हित:।। अर्थात्:- भले ही शीश कट जाए अथवा प्राण चले जाएं, यह सौ गुना अच्छी स्थिति है, तथापि लोक तथा वेद में वर्णित धर्म...

0

नवरात्रि का रहस्य !

श्वेता पुरोहित। नवरात्रि हिंदुओं का एक प्रमुख पर्व है,नवरात्रि संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। नवरात्रों में लोग अपनी आध्यात्मिक और मानसिक शक्तियों में वृद्धि करने के लिये अनेक प्रकार के...

0

बाहू किले की काली मां”(3000 वर्ष प्राचीन) जम्मू की अधिष्ठात्री देवी मां

डॉ विनीता अवस्थी । जम्मू से 1 घंटे की दूरी पर अखनूर शहर आना मुझे मात्र देव योग लगा मात्र 5 माह का निवास संभवत किसी वृहत्तर देव योजना का भाग हो सही संकल्प...

0

मंत्र के अभ्यास से मिलती है मन से मुक्ति!

आप नियमित ओंकार मंत्र का जाप (अभ्यास) कीजिए। यह मन से मुक्ति की आपकी यात्रा को प्रशस्त करेगा। मैं यह स्वयं के अनुभव से बता रहा हूं। एक समय ऐसा आएगा कि आपके अंदर...

0

पुरी पीठाधीश्वर ने नवनियुक्त दोनों शंकराचार्यों को मान्यता देने से किया मना! फिर उठा विवाद!

पुरी पीठ के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती जी ने ज्योतिर्मठ और द्वारका मठ के नवनियुक्त शंकराचार्यों- शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद जी एवं शंकराचार्य सदानंद सरस्वती जी को मान्यता देने से मना कर दिया है। गोवर्धनमठ के आधिकारिक...

0

सरकारी जमीन पर अवैध मदरसा, सच दिखाने पहुँची मीडिया टीम को बनाया बंधक: निजामुद्दीन में मदरसा संचालक और साथियों की हरकत…

इस घटना के विरोध मे 7 सिंतबर 2022 सभी पत्रकार बंधु उस अवैध मदरसे पर दोपहर 2 बजे दौबारा रिपोर्टिंग करने जायेगे और नजदिकी पुलिस स्टेशन मे इसकी शिकायत दर्ज करायेगे. इस दौरान देश...

0

गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश और उनसे जुड़ी मान्यताएं!

हेमंत शर्मा। गणेश बप्पा मोरिया गणेश शुभांकर हैं। विघ्नहर्ता हैं। कुशल प्रबंधक हैं। आदि लेखक हैं।सृष्टि के पहले लिपिकार हैं।शास्त्रों के ज्ञाता हैं।ऋद्धि और सिद्धि उनकी पत्नी है।शुभ यानी समृद्धि और लाभ उनकी संतानें...

0

सनातन धर्म के अष्ट चिरंजीवी!

कालक्रमानुसार भारत के सप्त चिरंजीवियों के नाम इस प्रकार हैं:- राजा बलि, भगवान परशुरामजी, हनुमानजी, विभीषण, महर्षि वेदव्यासजी, कृपाचार्यजी और अश्वत्थामा। इन सप्त चिरंजीवी के साथ आठवें चिरंजीवी के रूप में ऋषि मार्कण्डेय का...

0

पुष्कर तीर्थ का वास्तविक इतिहास

ईरान में बुखारा नामक स्थान पर एक व्यक्ति का जन्म हुआ जिसका नाम ब्रह्मा पड़ा, क्योंकि उसने ब्रह्मवाद का प्रतिपादन किया। यह बुखारा नाम मूलतः पुष्कर था‌। अपभ्रंश होते-होते वही पुष्कर शब्द क्रमशः पुकर,...

0

वैदिक काल गणना, सृष्टि की उत्पत्ति और आधुनिक विज्ञान!

दीपक कुमार द्विवेदी. वैदिक काल गणना और सृष्टि के उत्पत्ति के आधुनिक और वैदिक सिद्धान्त में क्या अंतर है मैं जिस विषय पर बात करने जा रहा हू उसे आज के आधुनिक विज्ञान भी...

0

शिवशक्ति धाम डासना के पुर्ननिर्माण व सनातन वैदिक ज्ञानपीठ की स्थापना हेतु भिक्षा मांगने निकलेंगे महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी

अर्चना कुमारी। भारतवर्ष के प्राचीन तीर्थो के से एक शिवशक्ति धाम(प्राचीन देवी मंदिर) डासना वर्तमान समय में सनातन धर्म की रक्षा का सबसे मजबूत केंद्र होते हुए भी धनाभाव के कारण अभूतपूर्व दुर्दशा का...

0

भगवान श्रीकृष्ण प्रकटोत्सव का वह समय!

श्वेता पुरोहित। समस्त शुभ गुणोंसे युक्त बहुत सुहावना समय आया। रोहिणी नक्षत्र था। आकाश के सभी नक्षत्र, ग्रह और तारे शान्त – सौम्य हो रहे थे । नक्षत्र “मैं देवकी के गर्भ से जन्म...

0

स्वयंभू विभक्त शिवलिंग का रहस्य शिव मंदिर( श्री खिदर पीर)

डॉ विनीता अवस्थी। भारत से पाकिस्तान जाती ‘चंद्रभागा'( चिनाब) नदी के किनारे जम्मू राज्य मे जाने कितने ही सिद्ध देवस्थान हैं जो कि हम जनसाधारण लोग नहीं जानते। हम अपने जीवन पर एक नजर...

0

15 अगस्त के दिन हिन्दू समाज के जागरण हेतू वर्ष 2020 में ‘श्राद्ध संकल्प दिवस’ की शुरुआत करना मीनाक्षी शरण का भगीरथी प्रयास

10 अगस्त 2022, समय दोपहर 3 बजे। इंडिया स्पीक्स डेली पर संदीप देव जी के साथ मीनाक्षी शरण जी का संवाद देखा। विषय था ‘भारत विभाजन, हिंदुओं की अतृप्त आत्मा और अधूरी स्वतंत्रता!‘ इस...

0

आगम और निगम की व्याख्या !

तंत्र शास्त्र उपयोगी भी, विज्ञान सम्मत भी भारतीय अध्यात्म का गौरवशाली साहित्य दो भागों में विभक्त है-’आगम’ और ‘निगम’।सामान्यतया आगम तंत्र के लिए और निगम वेदों के लिए प्रयुक्त होता है। वेदों की महत्ता...

0

1000 वर्ष प्राचीन श्री मनकामेश्वर शिव मंदिर !

डॉ विनीता अवस्थी। सावन के पवित्र महीने में महादेव अपने भक्तों को, आशीर्वाद, स्नेह व प्रेम से ओतप्रोत तो करते ही हैं अपितु आप वर्ष में किसी भी समय चले जाएं उनके दर्शन आपको...

0

उत्तराखंड की तरह हिमाचल भी कट्टरपंथियों की गिरफ्त में!

उत्तराखंड की तरह हिमाचल प्रदेश में भी मुस्लिम कट्टरपंथी अपने पैर जमा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक राज्य में मस्जिदों की संख्या 500 से ज्यादा हो चुकी है, जबकि सरकार के पास इनका सरकारी...

ताजा खबर