Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: धर्म

0

श्वेताश्वर उपनिषद के शांति पाठ में हर सनातनी की उन्नति का मंत्र है!

श्वेताश्वतर, मेरे घर के इस नाम में उपनिषद का ज्ञान भी है और मेरी भार्या श्वेता का नाम भी। श्वेताश्वतर एक ऋषि थे, जिनकी अध्यक्षता में अरण्य में एक धर्म सभा का आयोजन किया...

0

ब्राह्मण-विरोध मूलतः और अंततः हिन्दू समाज को मिटाने की नीति का अंग है!

‘ब्राह्मणवाद’ का सच … चर्च-मिशनरियों की करतूतें… भारतीय राजनीतिक दलों की मूढ़ता… और हिन्दू समाज की दुर्गति। शंकर शरण जी का एक विश्लेषण:- सब से पहले फ्रान्सिस जेवियर (16वीं सदी) ने ब्राह्मणों पर हमला...

0

निंदा में तुम रस लेते हो, इसलिए बुराई बढ़ती जा रही है।

निंदा कोई करे, तो हम तत्काल मान लेते हैं। कोई कहे कि फलां व्यक्ति साधु, हम कभी नहीं मानते। हम कहते हैं, पता लगाकर देखेंगे। कोई कहे, फला आदमी चोर, व्यभिचारी, बदमाश, बिलकुल राजी...

0

केरल में बिशप जोसेफ कल्लारनगट्ट ने कहा कि ‘लव जिहाद’ और ‘नार्कोटिक जिहाद’ के तहत गैर मुस्लिम लड़कियों को फंसाया जा रहा है।

तालिबान से हम हजार सवाल पूछेंगे, इस्लाम पर भी पूछेंगे। परंतु एक सवाल पादरी से भी पूछना चाहिए कि कन्वर्जन की चोट लगती है तो आप तिलमिलाते हैं। कन्वर्जन की यही चोट इस देश...

0

ऋषि कहते हैं, मेरी वाणी मेरे मन में ठहर जाए!

जो हम चारों तरफ बोलते रहते हैं, वह धीरे— धीरे हमारा व्यक्तित्व बन जाता है। आपको भी बिना गवाह के पक्का नहीं हो सकता कि आप जो बोल रहे हैं वह सही है या...

0

सम्यक्-वाक् (Right speech) : कुछ व्यावहारिक सूत्र

[दुःख निरोध की तीसरी सीढ़ी : बुद्ध/ व्याख्या ] “सत्य आमतौर पर सुनाई नहीं, दिखाई देता है।”-बालतेसर ग्रेशियन कमलेश कमल। यह एक कारग़र जीवन सूत्र है, जिसका निहितार्थ है कि हमें अपने परिचितों, सगे-संबंधियों,...

0

गणेश की शारीरिक संरचना की भी एक दार्शनिक दृष्टि है।

Hemant Sharma. गणेश शुभांकर हैं। विघ्नहर्ता हैं। कुशल प्रबंधक हैं। आदि लेखक हैं।सृष्टि के पहले लिपिकार हैं।शास्त्रों के ज्ञाता हैं।ऋद्धि और सिद्धि उनकी पत्नी है।शुभ यानी समृद्धि और लाभ उनकी संतानें हैं।बुरी नजरों के...

0

जीवन के क्षुद्रतम तथ्य भी अव्याख्य हैं। जब मैं कहता हूं जीवन अतर्क्य है, तब मैं कह रहा हूं कि जीवन अव्याख्य, इनडिफाइनेबल है।

आप उसकी व्याख्या नहीं कर सकते। जी सकते हैं, कह नहीं सकते, क्या है। और जब भी कहने जाएंगे, तो ऐसी ही गलती हो जाएगी, जैसी इस सूत्र का ऋषि कहकर पड़ गया गलती...

0

यह उनका सदा का रूप था। अभी— अभी तो खूब खिल गया था, निखार आ गया था। लेकिन मुझे बचपन से याद है।

जब उनके पास बहुत सुविधा भी नहीं थी तब भी लुटाने में उन्हें रस था। उनकी जो मेरे मन में यादें हैं पुरानी—पुरानी से पुरानी यादें— लुटाने की हैं। वे कोई बहुत धनी व्यक्ति...

0

अब तो ढूंढो नया रास्ता

गुंडों  से  इतना  डरते  हो , आखिर  क्या  मजबूरी है? क्या तुम ब्लैकमेल होते हो , आखिर क्या कमजोरी है ? जिसने तुम पर किया भरोसा, उसने क्यों धोखा खाया ? इतना डर कर काम करोगे...

0

अफगानिस्तान में देखने से पता चलेगा कि क्यों करती थी जौहर हिन्दू स्त्रियाँ?

आज रात अफगानिस्तान से अमेरिकी सेनाएं चली गईं और अब अफगानिस्तान में केवल वह शासन शेष है, जिसमें औरतों का वह शोषण है, जिसकी यादें भारत में अभी तक ताजा है और जिन यातनाओं...

0

ओशो के शब्दों में कैलाश का रहस्य!

कैलाश – एक अद्भुत तीर्थ दो-तीन बातें सिर्फ उल्लेख कर दूं, क्योंकि वे घटित होती हैं। जैसे कि आप कहीं भी जाकर एकांत में बैठ कर साधना करें तो बहुत कम संभावना है कि...

0

तालिबानियों के पीछे जो पोट्रेट है वह अफगानिस्तान के शासक अहमद शाह अब्दाली की है

तालिबानियों के पीछे जो पोट्रेट है वह अफगानिस्तान के शासक अहमद शाह अब्दाली की है जिसने बाद में अपना नाम अहमद शाह दुर्रानी कर दिया था आज जो हम सब यह सोच रहे हैं...

0

अफगानिस्तान में फिर से तालिबान-अमेरिका की नीतियों की नाकामी

अफगानिस्तान में 20 वर्ष बाद फिर से तालिबान के काबिज होने के बाद दुनिया के सामने इस्लामिक कट्टरवाद का एक नया संकट पैदा हो गया है। तमाम देशों की तालिबानी सरकार को मान्यता न...

0

तालिबानी सोच का खात्मा जरूरी

अफगानिस्तान में 1996 से 2001 तक तानाशाही, क्रूरता, मानवाधिकारों का हनन और महिलाओं पर तमाम पाबंदी के साथ अत्याचार करने वाले तालिबानी राज की याद करते हुए ही लोगों में दहशत भर जाती है।...

0

दलित लड़के की मुस्लिम लड़की से शादी! लड़की की मां-बाप ने लड़की को किया बंद! लोगों से मदद की अपील!

मुस्लिम लड़की और जाटव हिंदू लड़का एक दूसरे को बहुत प्यार करते हैं और एक दूसरे के साथ जिंदगी गुजारने के लिए घरवालों की मर्जी के खिलाफ मुस्लिम लड़की 3/7/2021 तारीख को अपनी मर्जी...

0

लोग इस्लाम का अर्थ शांति बताते हैं।

महेन्द्र पाल आर्य। यह शांति के अर्थ सही में यह शांति है अथवा गलत इसका, जीता जागता प्रमाण आज सम्पूर्ण धरती वालों के सामने है । सही में इस्लाम का अर्थ शांति नहीं है,...

0

श्री अरविंद को किसी ने एक बार पूछा कि आप भारत की स्‍वतंत्रता के संघर्ष की आजादी के युद्ध में अग्रणी सेनानी थे; लड़ रहे थे। फिर अचानक आप पलायनवादी कैसे हो गये

श्री अरविंद को किसी ने एक बार पूछा कि आप भारत की स्‍वतंत्रता के संघर्ष की आजादी के युद्ध में अग्रणी सेनानी थे; लड़ रहे थे। फिर अचानक आप पलायनवादी कैसे हो गये कि सब...

0

दादू के चेले तो अनेक थे पर दो ही चेलों का नाम मशहूर है। एक रज्‍जब और दूसरा सुंदर।

आज आपको सुंदर कि विषय में एक घटना कहता हूं। दादू की मृत्‍यु हुई। तब दादू के दोनों चेलों ने बड़ा अजीब व्यवहार किया। रज्‍जब ने आंखे बंद कर ली और पूरे जीवन कभी...

//} elseif ( is_home()){?>
ताजा खबर