Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: अनोखा इतिहास

0

पहले किस नाम से जाना जाता था अलीगढ? जानिए अलीगढ का पुराना इतिहास!

भाजपा अलीगढ़ का नाम ‘हरिदेश’ करने की तैयारी में है. आपको बता दें कि अलीगढ़ को 18 वीं सदी में कोल या कोइल नाम से जाना जाता था. इस स्थान का नाम कोइल इसलिए...

0

राजा महेंद्र प्रताप सिंह की पूरी कहानी, पीएम मोदी ने जिनके नाम पर यूनिवर्सिटी का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर यूनिवर्सिटी का मंगलवार को शिलान्यास किया. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सितंबर, 2019 में अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह...

0

अहीरों ने की थी तुलसीदास के रामचरित मानस की मार्केटिंग !

अहीरों के इतिहास का इतना रसपूर्ण वर्णन वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा जी के अतिरिक्त कोई लिख भी नहीं सकता है! दूध के व्यवसाय से जुड़े गोपालक अहीरों का ऋग्वेद-पुराण से लेकर आज तक के...

0

राजस्थान दिवस पर विशेष! राजस्थानी-साहित्य और युद्ध-कौशल आलेख

कमलेश कमल. वीरों की भूमि राजस्थान की छटा सच ही इंद्रधनुषी है। पर, यह भी सच है कि राजस्थान का नाम सुनते ही मन में पाठ्य-पुस्तकों में वर्णित शौर्य, वीरता, ओज के किस्से ही...

2

प्राचीन भारत :सनातन का एक प्रतीक अरब की रेत में आज भी अडिग खड़ा है

दो बड़ी चट्टानों के बीच से एक cut लगाया गया था। ये cut खोजियों के लिए सिरदर्द बना हुआ है।

0

राखीगढ़ी की खुदाई में मिले उत्खनन सामग्री ने एक बार फिर आर्यों को विदेशी बताने वालों को किया बेनकाब

[ हृदयनारायण दीक्षित ]: झूठ का अस्तित्व नहीं होता। स्वार्थी तत्व अपने हित साधन में झूठ का प्रचार करते हैं, लेकिन सत्य बार-बार अपना अस्तित्व प्रकट करता है। ऐसा ही एक झूठ ब्रिटिश सत्ता के समर्थक...

6

जन्माष्टमी विशेष :द्वारिका समुद्र में खुलने वाला आर्यावर्त का वास्तविक द्वार है

वे महाराज रैवतक थे, जिन्होंने सबसे पहले समुद्र से भूमि छीनकर ‘कुशस्थली’ का निर्माण किया। यहाँ समुद्र छीनने से अभिप्राय है कि उन्होंने वैज्ञानिक प्रक्रिया से भूमि अधिग्रहण किया। विष्णु पुराण और हरिवंशपुराण से...

1

रविवार विशेष : बस पृथ्वी ही जानती है फल्कानेली का रहस्य

जब सन 1940 में जर्मनी का वैज्ञानिक वार्नर हैसिनबर्ग नाभिकीय विखंडन पर काम कर रहा था और सफलता के करीब ही था। हिटलर को हैसिनबर्ग से बहुत आशाएं थी। जून की गर्मियों में एक...

1

शेर के मुंह से निकलती है सिंधु नदी

नदियां न होती तो भारत न होता, वैदिक संस्कृति न होती और सनातन भी न होता। जब तक नदियां प्रवाहमान हैं, तब तक भारत भी चलायमान है। नदियों की बूंद-बूंद भारत के भाग्य को...

0

केरल का पद्मनाभस्वामी मंदिर: खजाने वाले बी चैंबर पर मंत्रयुक्त ताला सदियों पूर्व लगा दिया गया!

केरल का पद्मनाभस्वामी मंदिर विश्वभर में इसके लिए विख्यात है कि यहाँ की अकूत धन-संपत्ति को एक ऐसे रहस्यमयी कक्ष में बंद किया गया है, जिसकी रक्षा नागराज करते हैं। इस गुप्त ख़ज़ाने की...

3

क्या रानी अवंतिबाई केवल लोधी रानी थी?

“इतिहास में मेरा नाम तो रहेगा न?” मध्य प्रदेश में सिवनी जनपद में राजा जुझारू सिंह की पुत्री अपने पिता से कई बार यह प्रश्न पूछती थी। यह जो तलवारें इतना गरजती हैं, उनके...

0

वहां राम मंदिर ही तो है!

कहते हैं कि अफवाहों की उम्र नहीं होती. अफवाहों के पैर नहीं होते, और हवा में वह कितने दिन तक रहेंगी, जबकि सत्य के पैर होते हैं, वह धीरे धीरे चलता है, ठोस होता...

0

आज के महाभारत एपिसोड से क्या शिक्षा मिली?

१) द्रोण, युधिष्ठिर और दुर्योधन के युवराज के चयन के सवाल पर निष्पक्षता के आवरण में योग्यता पर मौन साध लेते हैं। लेकिन जब युद्ध हुआ तो आखिर में उन्हें एक पक्ष से युद्ध...

5

द्रोण द्वारा एकलव्य का अंगूठा मांगना कूटनीति था न कि जातिवाद!

आज के महाभारत में एकलव्य के संबंध में जो आपने देखा, यदि वह पहले से जानते रहते तो वामपंथियों के उस झूठ को काट सकते थे, जिसका उपयोग कर वह SC/ST वर्ग को हिंदू...

3

अरब सागर में रहस्य छुपाए डूबी है ‘द लॉस्ट सिटी ऑफ़ कैम्बे’

भाग-1 पृथ्वी ने अपने गर्भ में आश्चर्यजनक रहस्य समेट रखे हैं। इसकी देह पर अनेक संस्कृतियां जन्मी और समय के प्रवाह में खो गई। आज भी ठीक-ठीक ज्ञात नहीं है कि नदियों के किनारे...

0

अतीत के वातायन

विश्व के हर कोने में जब भी धरती खोदी जाएगी, नीचे से शिवाले ही प्राप्त होंगे।  इस शिवलिंग की अनुमानित निर्माण तिथि आज से लगभग ढाई हज़ार वर्ष पूर्व की बताई जाती है। ये...

0

बूथ कैप्चरिंग के जनक जवाहरलाल नेहरू की विरासत के लिए #EVM के खिलाफ खड़े हैं कांग्रेसी कुनबे!

आजाद भारत का पहला बूथ कैप्चरिंग देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने करवाया था। आज उन्हीं का परनाती राहुल गांधी ईवीएम की जगह फिर से मतपेटी के जरिए मतदान कराना चाहता है और...

1

ड्रग पैडलर आदिल शहरयार के लिए भारत के हजारों लोगों की मौत का सौदा करने वाला राजीव गांधी, हां भ्रष्टाचारी था!

अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “मिस्टर क्लीन’ राजीव गांधी का जीवनकाल ‘भ्रष्टाचारी नंबर वन’ के रूप में समाप्त हुआ था। ” इसके बाद प्रियंका वाड्रा ने प्रधानमंत्री को ‘सनकी’ और राहुल गांधी ने...

//} elseif ( is_home()){?>
ताजा खबर