Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: अनोखा इतिहास

0

क्योंकि मक्केश्वर महादेव पर भी उत्कीर्ण है ॐ

कुमार गुंजन अग्रवाल । शिवोपासना न केवल भारतवर्ष में अपितु भारतेतर देशों में अति प्राचीन काल से प्रचलित रही है। दुनिया के कोने-कोने में विद्यमान शिवलिंग इस बात के उदाहरण हैं। इस्लाम में सर्वाधिक...

0

जिसे आप कहते हैं कुतुब मीनार, वो है सूर्य स्तंभ: ये रहे 20 साक्ष्य, ASI के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक ने बताया- होती थी नक्षत्रों की गणना

दिल्ली के महरौली स्थित कुतुब मीनार को लेकर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक धर्मवीर शर्मा ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा है कि यह मीनार नहीं, बल्कि एक सूर्य स्तंभ...

0

ताजमहल या तेजोमहालय? क्या है रहस्य?

इतिहास में पढ़ाया जाता है कि ताजमहल का निर्माण कार्य 1632 में शुरू और लगभग 1653 में इसका निर्माण कार्य पूर्ण हुआ। अब सोचिए कि जब मुमताज का इंतकाल 1631 में हुआ तो फिर...

0

सामाजिक भेदभाव के शिकार बन गए भारत के पहले राष्ट्रवादी इतिहासकार

बीसवीं सदी में जिन भारतीय विद्वानों ने विमर्श की दिशा को प्रभावित करने में अग्रणी भूमिका निभाई, उनमें काशी प्रसाद जायसवाल (1881-1937) अग्रणी हैं. उनके जीवन के कई आयाम हैं और कई क्षेत्रों में उनका असर...

0

वीरांगनाओं के जौहर पर अबुल फजल क्या लिखता है?

डॉ ओमेंद्र रतनु। अबुल फ़ज़्ल जौहर के लिए लिखता है,” अकबर ने शुजात खां व भगवान दास को प्रसन्नतापूर्वक बताया कि उसने एक महत्वपूर्ण व्यक्ति को मार डाला है। एक घंटे के बाद जब्बार...

0

Golden History: जल्दी ही भारत विश्व को द्वारिका की पूरी कथा सुनाने में सक्षम होगा

जोशुआ ने उस विशाल दीवार के भी दर्शन किये, जो द्वारिका की सुरक्षा के लिए निर्मित की गई थी।

0

क़िस्सा पड़रौना के राजा के राजा बनने का और इस बहाने कुछ और राजाओं की पड़ताल

दयानंद पांडेय। हमारे गोरखपुर के पास एक जगह है पड़रौना । पहले देवरिया ज़िला में था , अब कुशी नगर ज़िला है । कुशी नगर का ज़िला मुख्यालय इसी पड़रौना में है। एक समय...

0

महात्मा गांधी और मनुबेन: एक अनकही कहानी!

शंकर शरण। दो वर्ष पहले मनु बेन की डायरी प्रकाश में आई। मनु बेन महात्मा गाँधी के अंतिम वर्षों की निकट सहयोगी थीं। इस डायरी से उन कई बिन्दुओं पर प्रकाश पड़ता है, जो...

0

एक ऐसा समुदाय जिसकी किसी महिला को यदि कोई पुरुष पसंद आ जाए तो वह तोड़ देती है अपनी शादी!

पाकिस्तान (Pakistan) में महिलाओं को उतनी फ्रीडम नहीं है, जितना दुनिया के अन्य लोकतांत्रिक देशों में है. लेकिन आज हम आपको पाकिस्तान में रहने वाली एक ऐसी जनजाति के बारे में बताने जा रहे...

0

पहले किस नाम से जाना जाता था अलीगढ? जानिए अलीगढ का पुराना इतिहास!

भाजपा अलीगढ़ का नाम ‘हरिदेश’ करने की तैयारी में है. आपको बता दें कि अलीगढ़ को 18 वीं सदी में कोल या कोइल नाम से जाना जाता था. इस स्थान का नाम कोइल इसलिए...

0

राजा महेंद्र प्रताप सिंह की पूरी कहानी, पीएम मोदी ने जिनके नाम पर यूनिवर्सिटी का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर यूनिवर्सिटी का मंगलवार को शिलान्यास किया. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सितंबर, 2019 में अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह...

0

अहीरों ने की थी तुलसीदास के रामचरित मानस की मार्केटिंग !

अहीरों के इतिहास का इतना रसपूर्ण वर्णन वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा जी के अतिरिक्त कोई लिख भी नहीं सकता है! दूध के व्यवसाय से जुड़े गोपालक अहीरों का ऋग्वेद-पुराण से लेकर आज तक के...

0

राजस्थान दिवस पर विशेष! राजस्थानी-साहित्य और युद्ध-कौशल आलेख

कमलेश कमल. वीरों की भूमि राजस्थान की छटा सच ही इंद्रधनुषी है। पर, यह भी सच है कि राजस्थान का नाम सुनते ही मन में पाठ्य-पुस्तकों में वर्णित शौर्य, वीरता, ओज के किस्से ही...

2

प्राचीन भारत :सनातन का एक प्रतीक अरब की रेत में आज भी अडिग खड़ा है

दो बड़ी चट्टानों के बीच से एक cut लगाया गया था। ये cut खोजियों के लिए सिरदर्द बना हुआ है।

0

राखीगढ़ी की खुदाई में मिले उत्खनन सामग्री ने एक बार फिर आर्यों को विदेशी बताने वालों को किया बेनकाब

[ हृदयनारायण दीक्षित ]: झूठ का अस्तित्व नहीं होता। स्वार्थी तत्व अपने हित साधन में झूठ का प्रचार करते हैं, लेकिन सत्य बार-बार अपना अस्तित्व प्रकट करता है। ऐसा ही एक झूठ ब्रिटिश सत्ता के समर्थक...

ताजा खबर