Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: राजनीतिक विचारधारा

0

मिस्टर राहुल गांधी, संघ के स्कूल में यदि आप पढ़ लेते तो इस तरह डिब्बे की तरह नही घनघना रहे होते!

कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी अपनी कुंठा में बार-बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर हमला करते रहते हैं। इस बार उन्होंने संघ द्वारा संचालित स्कूलों की तुलना पाकिस्तानी मदरसों से करके अपने मानसिक दिवालियेपन...

0

गांधी परिवार ने पूरे देश की रजिस्ट्री अपने नाम कर ली!

ऐसा लगता है कि पूरे देश को नेहरु-गांधी परिवार को बेच दिया गया है। जहां से गुजर जाइए नेहरु-गांधी परिवार के नाम पर कोई न कोई इमारत नजर आ जाएगी। आइए देखें कि इस...

0

तो क़ुतुब मीनार पर भी तथ्य नहीं है?

एनसीईआरटी में इतिहास में बच्चों के दिमाग के साथ छेड़छाड़ के नए सबूत सामने आ रहे हैं, वैसे तो यह खेल कक्षा एक से ही शुरू हो जाता है, पर कक्षा छ के बाद...

0

मुगलों का झूठा महिमामंडन कब तक?

एनसीईआरटी की कक्षा बारह की इतिहास की पुस्तक में एक नहीं बल्कि कई स्थानों पर या कहें सम्पूर्ण मुग़ल इतिहास का जमकर महिमामंडन किया गया है, और अब यह प्रमाणित हो गया है कि...

1

ध्यान से इन नामों को देखिए। यह 2020-21 की टेक्स्टबुक डेवलपमेंट कमेटी के सदस्य हैं, जो #NCERT आदि के लिए तय करते हैं कि हमारे बच्चों को क्या पढ़ाया जाएगा।

इसमें अधिकांश अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय(JNU) के फरहत हसन, नजफ हैदर, रामचन्द्र गुहा जैसे मार्क्सवादी-इस्लामवादी इतिहासकार भरे गये हैं। मोदी सरकार का शिक्षा मंत्रालय पिछले छह साल से मार्क्सवादियों...

0

NCERT की पुस्तकों में दशकों से यह झूठ पढ़ाया जा रहा है कि मुगलों ने हिंदू मंदिरों का नवनिर्माण कराया।

जब RTI लगा कर यह पूछा गया कि इसका संदर्भ (सबूत) दीजिए तो NCERT ने कहा, इसके श्रोत का हमें भी पता नहीं है। यानी NCRT की पुस्तकों में तथ्य नहीं, लाल लंपटों की...

0

राम मंदिर को झूठ बताने और मुगलों की महिमा गाने वालों से आज भी सरकार लिखवा रही है NCERT का पाठ्यक्रम!

बच्चों के लिए किताबों का निर्माण करने वाली संस्था एनसीईआरटी क्या हमारे बच्चों के मन में पढ़ाई के बजाय मनगढ़ंत कहानियाँ भरती है? और यदि मनगढ़ंत कहानियाँ ही उनके मन में भरी जा रही...

0

फड़नवीस चाहते हैं कार्यकर्ता विपक्ष की भूमिका निभाते रहे और वे स्वयं निष्क्रिय रहें

सन 2020 का वर्ष महाराष्ट्र के विपक्ष के लिए सत्ता पर काबिज होने का स्वर्णिम अवसर था, जो महाराष्ट्र भाजपा ने गंवा दिया।

0

भारत की सभी समस्याओं का कारण जनसंख्या बढ़ोतरी है। प्रधानमंत्री जी इसके नियंत्रण के लिए कानून बनाइए!

आदरणीय प्रधानमंत्री जी, सादर प्रणाम, भगवान महादेव से प्रार्थना है कि आपको शतायु दें और हमेशा स्वस्थ रखें। इस पत्र के माध्यम से आपका ध्यान भारत की 50% समस्याओं के मूल कारण ‘जनसंख्या विस्फोट’...

0

इस ग्रंथी और प्रधान को न्याय कौन दिलाएगा! अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह,  दिलजीत दोसांझ  या सिख फॉर जस्टिस!   

किसान बिल को लेकर सिख समुदाय के कुछ खालिस्तानी समर्थक लोग दिल्ली के बॉर्डर पर हैं  लेकिन आरके पुरम इलाके में गुरुद्वारे के अंदर हुए झगड़े के दौरान मारपीट में एक ग्रंथी की हत्या कर दी...

0

कंगना रनौत और दिलजीत दोसांझ के बीच ट्विटर बार में खालिस्तान समर्थक जत्थेदार!

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और दिलजीत दोसांझ के बीच ट्विटर बार में अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह का नाम आया। यह वही शख्स है जिस का कहना है कि प्रत्येक  सिख खालिस्तान चाहता है। सिख...

0

रोशनी एक्‍ट की आड़ में जम्‍मू कश्‍मीर के इस्लामी कारण की बड़ी शाजिश!

प्रो. रसाल सिंह। आज रोशनी एक्ट के अंधेरों से जम्मू-कश्मीर का आम नागरिक परिचित है। तमाम राजनेताओं और नौकरशाहों ने इस एक्ट की आड़ में बड़े पैमाने पर सरकारी भूमि को हड़प लिया था। अब...

0

यह संयोग था या प्रयोग? भाजपा को सोचने की जरूरत है!

१) 1989-90 में गृहमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने जब पंडित विहीन कश्मीर घाटी का अभियान चलाया तो वीपी सिंह की सरकार में भाजपा शामिल थी। २) जम्मू के ‘हराकरण’ के लिए 2001 में फार्रुख...

0

गो हत्या बंदी कानून को लेकर अभी तक हर सरकार का रवैया ढुलमुल। गोविंदाचार्य ने मोदी सरकार से की पूर्ण गो हत्या बंदी कानून बनाने की मांग।

#सन_1966_में_गोपाष्टमी के दिन दिल्ली में संसद भवन के सामने गोरक्षा के लिए विशाल प्रदर्शन हुआ था। दुर्भाग्य से उस समय पुलिस की गोलियों से सैकड़ों पूज्य संतों और गोभक्तों का बलिदान हुआ। उस अनहोनी...

0

नीतीश कुमार पर भारी न पड़ जाए मुंगेर हिंसा!

बिहार में नीतीश कुमार को मुंगेर हिंसा की वजह से खामियाजा उठाना पड़ सकता है। चुनाव आयोग ने भी बृहस्पतिवार को हुई हिंसा के बाद डीएम राजेश मीणा और एसपी लिपी सिंह को तत्काल प्रभाव...

2

सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी नहीं मानेगी All india muslim personal law board!

आज जब पूरे विश्व के हिन्दू अपने प्रभु श्री राम के 500 वर्षों उपरान्त अयोध्या में मंदिर के उल्लास में मगन है, वह उस विजय में मगन हैं, जिस विजय को उन्होंने इतने वर्षों...

0

रामजन्म भूमि पूजन के अवसर पर संघ प्रमुख मोहन भागवत का अक्षरशः संबोधन!

आनंद का क्षण है. बहुत प्रकार से आनंद है. एक संकल्प लिया था. और मुझे स्मरण है कि तब के हमारे संघ के सरसंघचालक बाला साहब देवरस जी ने, ये बात हमको कदम आगे...

0

आई पी एस आंफिसर ने अपने ट्वीट के द्वारा बताया कैसे वामपंथियों ने हिंदू धर्म की गलत छवि प्रस्तुत की, द वायर के सिद्धार्थ वरदराजन उतरे वामपंथियों के बचाव के लिये!

द वायर मीडिया के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन ने आई पी एस अधिकारी एम नागेश्वर राव के उस ट्वीट पर निशाना साधा है जिसमे उन्होने भारतीय सभ्यता और संस्कृति को वामपंथी इतिहासकारों द्वारा मिटाये...

1

राम मंदिर की नींव में गाड़ा जाएगा जानकारियों से भरा ‘टाइम कैप्सूल’

‘टाइम कैप्सूल’ एक बॉक्स होता है, जिसमे वर्तमान समय की जानकारियां भरी होती हैं। देश का नाम, जनसँख्या, धर्म, परंपराएं, वैज्ञानिक अविष्कार की जानकारी इस बॉक्स में डाल दी जाती है। कैप्सूल में कई...

1

सन 1528 हमें थमा दिया गया और हमारे हाथ बांध दिए गए

अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में चल रहे कार्य के दौरान खुदाई में पुरावशेष मिलने के बाद कुछ लोग नया बखेड़ा खड़ा कर रहे हैं। किसी छुटभैये नेता ने ट्विटर पर दावा किया है...

ताजा खबर