Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: yog nidra

0

बिस्तर पर लेट गया हूँ…मन जगा है…आत्मा के कपाट की झीनी सी झलक है।

कमलेश कमल। जीवन की डोर सदा से ऐसी है…कब किसकी कट जाए…नहीं पता। एकदम से वही निर्णय– जब तक यह डोर नहीं कटती, लोगों को बचाना है, बचाते रहना है। बात साफ है– असमय...

ताजा खबर
भारत निर्माण

MORE