Author: Courtesy Desk

0

काशी में खुदाई के दौरान मिल रहे हैं तीन से पांच हजार साल पुराने मंदिर!

अवनीश पी. एन. शर्मा।  श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर काॅरिडोर के काम के तहत अधिग्रहित भवनों के तोड़े जाने के दौरान हैरान करने वाली तस्वीरे सामने आ रही हैं। जिसमें चंद्रगुप्त काल से लेकर लगायत मंदिरों...

0

अब न वह गंगा है, न आस्था, और न कार्तिक पूर्णिमा की वह धार्मिकता!

हिंदू धर्म में कार्तिक, कार्तिक पूर्णिमा, कार्तिक में गंगा स्नान, देवदीपावली की महत्ता आदि आप इस एक लेख से जितना जान पाएंगे, उतना ढूंढ़ने पर भी आप शायद न पढ पाएं! आज के समय...

0

आखिर शिव में ऐसा क्या है, जो उत्तर में कैलास से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम तक वो एक जैसे पूजे जाते हैं?

शिव गुट निरपेक्ष हैं. सुर और असुर दोनों का उनमें विश्वास है. राम और रावण दोनों उनके उपासक हैं।आखिर शिव में ऐसा क्या है, जो उत्तर में कैलास से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम तक...

0

‘ड्राईवर सत्य जगत मिथ्या’, अतः हे मित्र! ड्राइवर के मजनू चरित्र से मुक्ति पाएं, भलाई इसी में है

वरिष्ठ पत्रकार और लेखक हेमंत शर्मा जी द्वारा पत्रकार साथी अजीत अंजुम के ड्राइवर की इश्कबाजी और उनकी परेशानियां पर लिखे इस व्यंग्य को जरूर पढ़ें। हंस के लोट-पोट तो होंगे ही, साथ ही...

0

नरेंद्र मोदी बनाम सोनिया-मनमोहन की सरकार! तय कीजिए, कौन है असली फासीवादी!

अनंत विजय। साहित्य, कला और संस्कृति को लेकर इस देश में बहुधा विवाद होते रहते हैं। कोई कार्यक्रम हो जाए तो विवाद, कोई कार्यक्रम टल जाए तो विवाद। कोई नियुक्ति हो जाए तो विवाद,...

0

मुझे लगा कि जिस कन्धे पर मेरे हाथ हैं वे तो ‘स्लीवलेस’ हैं! वह कोई भद्र मोहतरमा थी!

वरिष्ठ पत्रकार और लेखक हेमंत शर्मा का व्यंग्य बेदह धारदार, चुटीला और प्रवाहमान होता है। उनकी एक पुस्तक ‘तमाशा मेरे आगे’ में ऐसे ही व्यंग्य भरे पड़े हैं, जिसमें से एक ‘केसन असि करी’...

0

नोटबंदी पर सवाल उठाने वालों, पहले इसके 101 फायदे तो गिन लो

प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी द्वारा की गई नोटबन्दी फेल हो गयी कहने वालों को इसके 101 फायदे जरुर बताएं ताकि अगली बार सवाल पूछने वाले सौ बार सोचे! सौ सवालों के एक सौ एक जवाब...

0

आयकर विभाग के 500 से अधिक घंटे की टेप में हुआ बड़ा खुलासा

जितेन्द्र चतुर्वेदी। एपी का मतलब अहमद पटेल तो नहीं! ‘शिंदे’, ‘भारद्वाज’ और ‘के नाथ’ तक आते-आते रहस्य खुल जाता है। मोइन कुरैशी और पूर्व सीबीआई निदेशक एपी.सिंह की बातचीत में इन नामों का जिक्र...

0

क्यों और कैसे मनाते हैं छठ महापर्व?

कमलेश झा । भारत की विविध संस्कृति का एक अभिन्न अंग यहां के पर्व हैं। भारत में ऐसे कई पर्व मनाए जाते हैं जो बेहद कठिन माने जाते हैं और इन्हीं पर्वों में से...

0

विजय माल्या की किंगफिशर को कर्जा देने में भारतीय बैंकों ने अपने ही नियम-कानून का जबरदस्त उल्लंघन किया- लंदन मजिस्ट्रेट अदालत

वो अदालत ना भाजपा की थी ना RSS की थी। वो अदालत हिंदुस्तान से लगभग साढ़े छह हजार किलोमीटर दूर स्थित लन्दन की थी। जब माल्या केस में सुनवाई करते हुए न्यायधीश एम्मा आर्बथनॉट...

0

#METOO के बहाने एम.जे अकबर को धराशायी करने की पाकिस्तानी मुहिम!

सतीश चंद्र मिश्रा। निम्नलिखित घटनाक्रम का उल्लेख इसलिए क्योंकि जिस दौर की यह घटना है उस दौर में देश में सेक्युलरिज़्म के सबसे बड़े झंडाबरदारों/मसीहाओं में लालू यादव को भी गिना जाता था। उसी...

0

माँ दुर्गा के नौ नाम और उनका अर्थ!

नित्यानद मिश्र। नवरात्र की नौ रात्रियाँ देवी के नौ रूपों अथवा नवदुर्गाओं से संबद्ध हैं। आइये देवी के नौ रूपों के नामों का अर्थ समझें। देवी के नौ रूप प्रसिद्ध हैं हीं— प्रथमं शैलपुत्रीति...

0

जानिए, नवरात्र में घट स्थापना और अखंड ज्योति प्रज्वलित करने का शुभ मुहर्त !

पं. हेमंत रिछारिया। 10 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र प्रारंभ होने जा रही है। नवरात्र के यह नौ दिन मां दुर्गा की पूजा-उपासना के दिन होते हैं। अनेक श्रद्धालु इन नौ दिनों में अपने घरों...

0

विश्वहिंदू परिषद का अयोध्या राम मंदिर पर जयघोष, अध्यादेश लाने के लिए मोदी सरकार पर बढ़ाया दबाव!

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने शुक्रवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए वह ‘अंतिम लड़ाई’ लड़ रही है और इस वर्ष के अंत तक संसद में एक अध्यादेश लाने...

0

आइए गांधी जयंती पर उस गांधी को याद करें, जिनकी एक गलती ने राष्ट्र को नरसंहार में झोंक दिया!

शंकर शरण। क्‍या आपने ध्यान दिया है कि कश्मीरी, बंगाली या पंजाबी हिन्दुओं के बीच महात्मा गांधी कभी लोकप्रिय नहीं रहे? कारण था, वास्तविक जीवन का सबक। अपने लंबे अनुभव से उन्होंने गांधीजी की...

0

‘मनु’ ने प्रथम श्राद्धक्रिया की इसलिए उन्हें ‘श्राद्धदेव’ भी कहा जाता है।

शशि झा। श्राद्ध का अर्थ एवं श्राद्धविधि का इतिहास आप भी जान लीजिए। श्राद्धविधि हिन्दू धर्म का एक महत्त्वपूर्ण आचार है तथा वेदकाल का आधार है। अवतारों ने भी श्राद्धविधि किए हैं, ऐसा उल्लेख...

0

जिउतिया पर्व 2018: जीवित्पुत्रिका व्रत कथा, शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और व्रत नियम।

शशि झा। यह व्रत आश्विन माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को आता है। ऐसी मान्यता है कि यह व्रत स्त्रियों द्वारा अपनी संतान की आयु, आरोग्य तथा उनके कल्याण हेतु पूरे विधि-विधान से...

0

व्यभिचार कानून- मी लार्ड! ये तो कम्प्लीट दिवालियापन है!

अभिरंजन कुमार। धारा-497 के मौजूदा स्वरूप का मैं भी समर्थन नहीं करता, लेकिन अदालत ने इसे तर्कसंगत बनाने के बजाय इसे ख़त्म करके सही नहीं किया है। मेरी राय में अदालत का यह फैसला...

0

बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय ने कहा पांडवों और कृष्ण-बलराम के नाम पर होना चाहिए दिल्ली की सड़कों के नाम!

दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता और वकील अश्विनी उपाध्याय का इन दिनों एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है जिसमें वो ये कहते हुए नजर आ रहे हैं कि देश की राजधानी दिल्ली को मुगलों...

0

राहुल गांधी द्वारा भ्रष्टाचार की बात करना ठीक वैसा ही है, जैसे विजय माल्या शराबबंदी की बात करे!

मनीष कुमार। एक पुरानी कहावत है सौ जूते भी खाया और सौ प्याज भी खाए। लेकिन बहुत कम लोग इस कहावत के पीछे की कहानी जानते हैं। दरअसल, किसी बड़ी ग़लती पर एक बादशाह...

ताजा खबर