Category: व्यक्तित्व विकास

0

सोनिया गांधी की मनमोहन सरकार ने स्विस बैंक में हसन अली को बचाने के लिए किया था खेल!

30 मई को दूसरे कार्यकाल की शपथ लेने जा रही नरेंद्र मोदी सरकार में विदेशों में कालाधन रखने वालों के बुरे दिन आने वाले हैं। स्विट्जरलैंड ने अपने बैंकों में खाता रखने वाले भारतीयों...

0

इसलामिक एजेंडावादी जाकिर नाईक पर कार्रवाई और उसका फलसफा!

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने इसलामिक एजेंडावादी जाकिर नाईक के खिलाफ मुंबई की विशेष अदालत में टेरर फंडिंग के मामले में आरोप पत्र दाखिल किया है। ईडी अभी तक जाकिर नाइक की 193 करोड़ की...

0

अक्षय कुमार द्वारा मोदी का साक्षात्कार…सनातनी राजा की कसौटी पर खड़े उतरते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी!

साक्षात्कार का आध्यात्मिक विश्लेषण- ऋषि सदृश्य जीवन- संन्यासी, दीवाली में पांच दिन के लिए एकांत वन में बस पीने के पानी के साथ गुजारना। सत्ता से निर्लिप्त- सैलरी कर्मचारियों के बच्चों के नाम, बैंक...

0

किताब का दावा, सोनिया गांधी की मनमोहन सरकार ने भाजपा कार्यालय में तैनात किया था अंडर कवर एजेंट!

एक किताब में यह दावा किया गया है कि हिंदू आतंकवाद की थ्योरी साबित करने के लिए सोनिया गांधी की मनमोहन सरकार ने भाजपा कार्यालय की रेकी कराई थी। यही नहीं, एनआईए के एक...

0

जवाहरलाल नेहरू ने सुरक्षा परिषद में चीन की कैसे की थी लाॅबिंग, पढ़िए सीआईए के एक अधिकारी का खुलासा!

कल चौथी बार चीन ने सुरक्षा परिषद में पाकिस्तानी आतंकवादी व जैश-ए-मोहम्मद के संस्थापक मसूद अजहर के पक्ष में वीटो का इस्तेमाल कर भारत द्वारा उसे वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की कोशिशों को रोक...

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी क्षमता के स्रोत का खोला राज, हिमालय से मिली सीख को कभी खुद से अलग नहीं किया !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद अपने अनछुए पहलुओं से पर्दा उठा दिया है। जो लोग आज तक उनकी क्षमता के स्रोत तथा हिमालय में बिताए अपने दो वर्षों के राज से अनभिज्ञ थे उनके...

0

खतरा दबे पांव हिमालय की ओर बढ़ रहा है!

साल की शुरुआत में ‘नेचर कम्युनिकेशंस’ ने हिमालय के बारे में एक नई रिपोर्ट छापी है। रिपोर्ट के मुताबिक खतरा दबे पांव हिमालय की ओर बढ़ रहा है। शोध के नए परिणाम बता रहे...

0

ऐसे समय में जब अंग्रेजी जैसी विदेशी भाषा का वर्चस्व बढ़ता ही जा रहा है, हमारी हिंदी लहरों की तरह अनवरत समृद्धि की तरफ अग्रसर है!

एक डोर में सबको जो है बाँधती वह हिंदी है, हर भाषा को सगी बहन जो मानती वह हिंदी है। भरी-पूरी हों सभी बोलियां यही कामना हिंदी है, गहरी हो पहचान आपसी यही साधना...

0

‘ए क्रूसेड अगेंस्ट करप्शन ऑन दी न्यूट्रल पाथ’ का हुआ विमोचन, राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश ने कहा यह दस्तावेजी किताब है ,रामबहादुर राय ने इसे पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने की वकालत की!

    राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने वरिष्ठ पत्रकार मनोहर मनोज द्वारा लिखित पुस्तक ”ए क्रूसेड अगेंस्ट करप्शन ऑन दी न्यूट्रल पाथ” का प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में एक समारोह में विमोचन किया। इस...

0

साल का पहला खोजी अभियान : ग्रेट पिरामिड का रहस्य सुलझाएंगे माइक्रो रोबॉट

पृथ्वी के गर्भ में बहुत से रहस्य साँस ले रहे हैं। ऐसे रहस्य, जिन पर शताब्दियों से ‘पहेलियों’ का आवरण पड़ा हुआ है। गीज़ा के ग्रेट पिरामिड में एक ऐसी भूल-भुलैया है, जिसकी थाह...

1

इंदिरा गांधी ने कैसे जरनैल सिंह भिंडरावाले को एक संत से आतंकवादी बना दिया!

एक समय था जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन कुमार को 1984 में सिख विरोधी दंगा के दौरान सामूहिक हत्या मामले में सजा होने की बात सोचना भी अकल्पनीय था। ध्यान देने वाली बात...

0

जीवन में चहकने और फुदकने के मायने भी हमने गौरैया से सीखे!

हेमंत शर्मा। गौरैया, अम्मा और आंगन. मेरे बचपन की ये यादें हैं. अम्मा रहीं नहीं. अब घरों में आंगन भी नहीं रहे. गौरैया भी मेरे घर आती नहीं. मेरी वे यादें छिन गईं, जिन्हें...

0

नाम को उड़ने दो,खुद जमीन पर रहो

सुबह एक वीडियो पर निगाह ठहर गई और उससे एक विचार का पौधा उग आया। लोकप्रियता कैसी भी हो ‘आभासी’ होती है। वास्तविक लोकप्रियता भी ‘आभासी’ ही होती है। लोकप्रियता की जो उड़ान भरता...

0

अगले सौ साल में ब्रम्हाण्ड में नया घर न खोजा तो कंप्यूटर करेंगे हम पर शासन!

प्रख्यात भौतिक विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग अपनी मौत के सात माह बाद फिर चर्चा में हैं। हाल ही में उनकी आखिरी किताब ‘ब्रीफ आंसर्स टू ब्रीफ क्वेश्चंस’ प्रकाशित हुई है। ब्रम्हाण्ड के बारे में विश्व...

0

क्या साबित करते हैं तुर्की में मिले साढ़े 11 हजार साल पुराने मंदिर के अवशेष…

सभ्यता के इतिहास में सबसे पहले मंदिर बना, फिर मानव बस्तियां बसी। 1960 में तुर्की में हुई खुदाई में करीब 11,500 साल पुराने मंदिर के अवशेष ने साबित कर दिया कि समाज से पहले...

0

हिंदी के मौलिक लेखन से जब अंग्रेजी लेखन को चुनौती मिलती है, तो उसके खिलाफ उसी तरह प्रोपोगंडा फैलाया जाता है, जैसा कि आजकल ‘युद्ध में अयोध्या’ के लेखक हेमंत शर्मा के खिलाफ संगठित रूप से फैलाया जा रहा है!

अयोध्या इस समय देश का सबसे हॉट टॉपिक है। ऐसे समय में वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा की अयोध्या पर प्रभात प्रकाशन से प्रकाशित दो पुस्तकें ‘युद्ध में अयोध्या’ और ‘अयोध्या का चश्मदीद’ हाल ही...

0

युद्ध में अयोध्याः जब राम मंदिर की सच्चाई उजागर करने वाली किताब को मुसलमानों ने छुपाया!

सुप्रीम कोर्ट ने यह तय कर दिया कि अयोध्या मामले में सुनवाई केवल जमीन विवाद पर होगी, अन्य किसी भी चीज पर नहीं। वहीं अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए संत समाज अनशन पर...

0

हिंदी कविता- इस पथ पर कौन मिलेगा?

इस पथ पर कौन मिलेगा? साथी यह तय कौन करेगा? आज मिला जो वह मेरा है, कल आशाओं का फेरा है! जीवन यह बहता दरिया है, जो साथ बहेगा याद रहेगा! इस पथ पर...

0

युद्ध में अयोध्याः बाबरी ध्वंस से तीन दिन पहले नरसिंह राव कल्याण सिंह सरकार को बर्खास्त करना चाहते थे, लेकिन राज्यपाल ने ऐसा होने नहीं दिया!

आज भी कांग्रेस पार्टी, उसके समर्थक और काफी सारे लोगों को यह लगता है कि बाबरी ध्वंश कराने में तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिंह राव की मौन सहमति थी। ऐसा मानने वालों में संघ, भाजपा और...

0

युद्ध में अयोध्या: बाबरी एक्शन कमेटी और इसलामपंथी-वामपंथी इतिहासकारों ने किस तरह अयोध्या मामले को उलझाने का खेल खेला, इसे एक उदाहरण से समझते हैं!

सुप्रीम कोर्ट ने यह तय कर दिया कि अयोध्या मामले में सुनवाई केवल जमीन विवाद पर होगी, अन्य किसी भी चीज पर नहीं। वहीं अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए संत समाज अनशन पर...

ताजा खबर