दागी पी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई को मिली केस की मंजूरी!



ISD Bureau
ISD Bureau

भले ही वक्त लग हो लेकिन पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री और वित्त मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई को केस चलाने की मंजूरी दे दी गई है। धीरे-धीरे ही सही लेकिन अब पी चिदंबरम के गले में न्यायिक फंदा कसता जा रहा है।

इस मामले में ट्वीट करते हुए भाजपा नेता सुब्रमनियन स्वामी ने कहा है कि अब पी चिंदरबरम के सिलाफ केस चल कर रहेगा। सीबीआई को उनके खिलाफ केस चलाने की अनुमति मिल गई है। इसके साथ ही अब पी चिदंबरम का खराब समय शुरू हो गया है।

जैसे ही आईएनएक्स मीडिया घोटाला मामले में पी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई को चार्जशीट दाखिल करने की मंजूरी मिली वैसे ही उसके गले में न्यायिक फंदा कसना शुरू हो गया। अब उम्मीद की जा रही है कि सीबीआई बहुत जल्द ही पी चिंदबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के अलावा वित्त मंत्रालय के कुछ अन्य अधिकारियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी। साल 2007 में कानून का उल्लंघन कर आईएनएक्स मीडिया के प्रमोटरों पीटर और इंद्राणी मुकर्जी को विदेशी फंड के क्लियरेंस देने के मामले में यह चार्जशीट दाखिल की जाएगी।

मालूम हो कि इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय पहले ही कार्ति चिदंबरम और उनकी कंपनी की 54 करोड़ रुपये की संपत्ति सील कर चुका है। प्रवर्तन निदेशालय ने कार्ति की जो संपत्ति सील की है वह दिल्ली के अलावा, ऊटी, लंदन तथा स्पेन मे हैं। सील की गई संपत्ति का अभी बाजार कीमत 300 करोड़ से भी अधिक है।

मालूम हो कि केंद्र सरकार ने चिदंबरम के खिलाफ केस चलाने की अनुमति पिछले साल नवंबर में दे दी थी। एयरसेल मैक्सिस केस के मामले में जब ईडी ने पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबर के घर और कंपनी में छापेमारी की थी, उसी समय आईएनएक्स मीडिया रिश्वत केस का मामला सामने आया था। ईडी ने साल 2015 में दोनों बाप-बेटे के ठिकाने पर छापेमारी की थी। ईडी की छापेमारी से यह भी खुलास हुआ था कि पी चिदंबरम परिवार की दुनिया के 14 देशों में अवैध संपत्ति है। इसके अलावा अघोषित रूप से 21 विदेशी बैंकों में खाते हैं।

अब जब सीबीआई को पी चिदंबरम और उनके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने की अनुमति मिल गई है तो अब धीरे-धीरे ही सही सारे मामले सामने आ जाएंगे।

URL : cbi gets sanction to prosecute chidambaram in the inx media scam!

Keywords : cbi, p chidambaram, inx media scam, supreme court, subramanian swami


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !

About the Author

ISD Bureau
ISD Bureau
ISD is a premier News portal with a difference.