ईसाई पादरी ने राजीव गांधी की हत्या को बताया जायज!



राजीव गांधी : फाइल फोटो
ISD Bureau
ISD Bureau

ईसाई इतने सालों से भारत में रहने के बाद भी वे कभी भारतीय नहीं हो पाए, तभी तो आज-तक वे वेटिकन चर्च के हुकूम बजाने को शापित हैं। ईसाई सांस्कारिक दोष के शिकार होते हैं, इसलिए ईसाइयो में ईमान नहीं होता वे जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद कर देते हैं। यह इस बात से साबित होता है, जिस कांग्रेस ने आज तक उसे संरक्षण मिलता रहा आज उसी के प्रिय नेता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या को ईसाई प्रचारक अगस्टाईन जेबाकुमार ने उचित बताया है। इतना ही नहीं उन्होंने श्रीलंका में गए भारतीय शांति सेना को हत्यारी सेना का नाम दिया है। ऐसा नहीं कि वह पहले ईसाई हैं जिसने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या को उचित बताया हो और भारतीय सेना को अपमानित किया हो।

मुख्य बिंदु

* इसाई प्रचारक जेबाकुमार ने राजीव गांधी की हत्या को जायज ठहराया है वहीं भारतीय शांति सेना को हत्यारिन बताया है

* इससे पहले मोहन लेजैरस तमिलनाडु में हिंदुओं के मंदिरों को शैतान का अड्डा बताया था

इससे पहले भी ईसाई प्रचारक मोहन लेजैरस भी भारतीय साधु संत के साथ धार्मिक स्थलों का अपमान कर चुका है। लेजैरस ने तमिलनाडु में स्थापित मंदिरों को शैतानो का अड्डा बताया था। जबकि सारे व्यभिचार चर्च में होते हैं। अधिकांश चर्चो के बिशप पर रेप का आरोप है। हाल ही में केरल की एक नन ने बिशप फ्रैंक मुलाक्कल पर कई बार रेप का आरोप लगाया है। लेकिन ये लोग मंदिर को अपमानित करते रहते हैं।

जेबाकुमार का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वाइरल हुआ है। यह वीडियो बिना किसी तारीख का है। इस वीडियो में उन्होंने कहा है कि जिस प्रकार भारती शांति सेना ने श्रीलंका के आम लोगों को प्रताड़ित किया, विशेष कर वहां की महिलाओं पर अत्याचार किया उससे वहां की महिलाएं भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी से काफी नाराज थी। उन्होंने कहा कि श्रीलंका की महिलाओं की नाराजगी के कारण ही राजीव गांधी की हत्या की गई। उन्होंने कहा है कि भले ही राजीव गांधी की हत्या के लिए महिला माध्यम बनी लेकिन इसका असली दोषी भारतीय शांति सेना है। क्योंकि भारतीय सेना की करतूत का खामियाजा राजीव गांधी को अपनी जान देकर भुगतना पड़ा।

इतना ही नही जेबाकुमार न केवल हमारे पूर्व के स्वर्गवासी नेताओं और भारतीय सेना का अपमान किया है बल्कि उसने हिंदू देवी-देवताओं का भी अपमान किया है। उसने हिंदू भगवान हनुमान और गणेश का भी मजाक उड़ाया है। एक ईसाई का इस प्रकार देश के नेता से लेकर भगवान तक का अपमान करना सहज घटना नहीं है। उनके इस प्रकार के बयान से साफ होता है कि सामाजिक सौहार्द को एक बार फिर बिगाड़ने की साजिश चल रही है।

URL: Christian evangelistr justified Rajiv Gandhi’s assassination

Keywords: Christianity, Christian evangelistr, Rajiv Gandhi assassination, Augustine Jebakumar, Indian Army, ईसाई धर्म, ईसाई प्रचारक, राजीव कुमार, ऑगस्टीन जेबकुमार, भारतीय सेना,


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !

About the Author

ISD Bureau
ISD Bureau
ISD is a premier News portal with a difference.