राहुल गांधी आ राफेल मुझे मार के रास्ते पर आगे बढ़ रहे हैं!  

राफेल डील पर जिस प्रकार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अंधेरे में तीर चला रहे हैं लगता है एक दिन वही तीर उन्हें खुद आकर लगने वाला है। आखिर राहुल गांधी को कब समझ आएगा कि अभी तक उन्होंने जितने भी आरोप लगाए हैं सब के सब धराशायी हो चुके हैं। अनाधिकारिक तथ्य के हवाले से एक आरोप लगाते नहीं कि कई तथ्य सामने आ जाते हैं उनके आरोपों को झूठ साबित करने के लिए।  हाल ही में उन्होंने डसॉल्ट कंपनी के किसी अनाम अधिकारी के हवाले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर रिलायंस डिफेंस को ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट देने की शर्त लगाने का आरोप लगाया नहीं कि डसॉल्ट कंपनी के सीईओ एरिक ट्रैपर ने सामने आकर कह दिया कि डसॉल्ट एविएसन ने बिना किसी दबाव के रिलायंस डिफेंस को अपना साझीदार बनाया है।
<blockquote class=”twitter-tweet” data-lang=”en”><p lang=”en” dir=”ltr”>Rafale contract for India: clarifications by <a href=”https://twitter.com/hashtag/DassaultAviation?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw“>#DassaultAviation</a> <a href=”https://t.co/8aYgHllxdo>https://t.co/8aYgHllxdo</a></p>&mdash; Dassault Aviation (@Dassault_OnAir) <a href=”https://twitter.com/Dassault_OnAir/status/1050142141551276032?ref_src=twsrc%5Etfw“>October 10, 2018</a></blockquote>
<script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>
मुख्य बिंदु

* डसॉल्ट एविएशन के सीईओ एरिक ट्रैपर ने कहा कि रिलायंस डिफेंस के साथ ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट का महज 10 प्रतिशत हिस्से  के लिए समझौता हुआ है

* शेष ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट के लिए डसॉल्ट एविएशन करीब 100 कंपनियों से अभी भी बातचीत कर रही है

इतना ही नहीं डसॉल्ट एविएशन ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है कि रिलायंस के अलावा कई और भारतीय कंपनियों  से ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट करने की बात चल रही है। डसॉल्ट एविएशन की जिन भारतीय कंपनियों से ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट के लिए बातचीत चल रही है उनमें बीटीएसएल, डेफ्सी, काइनेटिक, महिंद्रा, माइनी तथा सैमटेल समेत और कई कंपनियां शामिल हैं। डसॉल्ट के सीईओ एरिक ट्रैपर ने कहा है कि रिलायंस डिफेंस के साथ जो समझौता हुआ है वह ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट का महज 10 प्रतिशत हिस्सा है। शेष हिस्से के लिए अभी कई कंपनियों से बात चल ही रही है।

एरिक का कहना है कि जिन सौ कंपनियों से बातचीत हुई है उनमें से करीब 30 कंपनियों के साथ डसॉल्ट की पहले से ही पार्टनरशिप है। एरिक ने कहा कि यह डील दो देशों की सरकारों  के बीच हुई है। इसलिए डसॉल्ट पर रिलायंस डिफेंस के साथ समझौता करने का कोई बाहरी  दबाव नहीं था। डसॉल्ट ने पूरी स्वतंत्रता और मुक्त भाव से काबिलियत के आधार पर रिलायंस डिफेंस के साथ समझौता किया है।

इस बीच फ्रांस के दौरे पर गई रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामण ने कहा कि सरकार अपने बयान से एक इंच भी  इधर -उधर होने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि राफेल डील फ्रांस और भारत सरकारों के बीच हुई डील है और इसके लिए कभी किसी के लिए कोई शर्त नहीं लगाई गई। जहां तक डसॉल्ट एविएशन का रिलायंस डिफेंस के साथ ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट की बात है तो वह उनका मामला है। भारत सरकार ने कभी किसी पर किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं डाला है। 

रफाल एयरक्राफ्ट डील से सम्बंधित खबरों के लिए नीचे पढें:

अच्छा…रॉबर्ट वाड्रा से जुड़ी दागी कंपनी ओआईएस को ‘हिस्सा’ नहीं मिलने की वजह से राफेल डील से नाराज हैं राहुल गांधी?

राफेल डील, विरोधियों थोड़ा जान लो इसकी खूबी, फिर मोदी सरकार को घेरना!

अमेरिकी हथियार दलाल के कहने पर राहुल गाँधी, वामपंथी वेब पोर्टल एवं एक्टिविस्टों ने खड़ा किया है राफेल के नाम पर विवाद!

पिछले पांच महीने में राहुल गांधी चार बार बदल चुके हैं राफेल एयरक्राफ्ट के दाम!

झूठे राहुल, आपकी सरकार से मोदी सरकार का राफेल एयरक्राफ्ट 59 करोड़ सस्ता है!

क्या भारत को मिले राफेल की अतिरिक्त तकनीक को दुश्मन देश के लिए सार्वजनिक कराना चाहते हैं राहुल गांधी?

फ्रांस सरकार ने राहुल गांधी के झूठ को किया एक्सपोज!

मनमोहन सरकार ने संसद में रक्षा संबंधी किसी भी समझौते की जानकारी देने से किया था मना! तो क्या राहुल गांधी अभी किसी साजिश के तहत रफेल डील को लीक कराना चाहते हैं?

राफेल पर राहुल के जिस भाषण को पीडी पत्रकार ऐतिहासिक बता रहे हैं कहीं कांग्रेस को इतिहास न बना दे!

URL:  How long Rahul Gandhi continue to keep an arrow in dark on Rafael Deal?
Keywords: rafale deal, rahul gandhi, modi government, PM Modi,  anil ambani, reliance, dassault, congress, राफले सौदा, अगस्ता वेस्टलैंड, राहुल गांधी,  पी एम मोदी, मोदी सरकार, अनिल अंबानी, रिलायंस, डसॉल्ट राफले, कांग्रेस

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs. या अधिक डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  

For International Payment use PayPal below

Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबर