Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: population

0

भारत की सभी समस्याओं का कारण जनसंख्या बढ़ोतरी है। प्रधानमंत्री जी इसके नियंत्रण के लिए कानून बनाइए!

आदरणीय प्रधानमंत्री जी, सादर प्रणाम, भगवान महादेव से प्रार्थना है कि आपको शतायु दें और हमेशा स्वस्थ रखें। इस पत्र के माध्यम से आपका ध्यान भारत की 50% समस्याओं के मूल कारण ‘जनसंख्या विस्फोट’...

0

जनसंख्या नियंत्रित करके ही महिलाओं पर होने वाले शारीरिक और मानसिक अत्याचार को रोकना संभव!

बेटी पैदा होने के बाद महिलाओं पर शारीरीक और मानसिक अत्याचार किया जाता है, जबकि बेटी पैदा होगी या बेटा, यह महिला नहीं बल्कि पुरुष पर निर्भर है। बेटियों को बराबरी का दर्जा मिले,...

0

एक आयोग जिसकी रिपोर्ट को लागू किया गया, तो देश की हर समस्या का हो जाएगा समाधान!

जैसा की आप जानते हैं कि संयुक्त राष्ट्र संघ प्रत्येक वर्ष 25 नवंबर को “महिलाओं के विरुध हिंसा उन्मूलन दिवस” मनाता है लेकिन महिलाओं के खिलाफ हिंसा बढ़ती जा रही है। सबसे दुःखद तो...

0

गिरिराज सिंह के बयान पर विवाद खड़ा करने वालो इस तथ्य को कैसे झुठलाओगे कि मुसलिम जनसंख्या विस्फोट की वजह से हिंदू अल्पसंख्यक बनने के मुहाने पर खड़ा है!

धर्म के नाम पर 2047 में एक बार फिर देश के विभाजन होने की आशंका वाले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर वामी-कांगी पत्रकारों ने विवाद करना शुरू कर दिया है। गिरिराज सिंह...

0

जरा उस भयावह स्थिति के बारे में सोचिए… मुसलिमों की बढ़ती आबादी की वजह से 2050 में जब हम दुनिया का सबसे बड़ी आबादी वाला देश बन जाएंगे।

सब जानते हैं कि हर समस्या का मूल कहीं न कहीं बेतहासा बढ़ती जनसंख्या है। इसके बाद भी अगर जनसंख्या विस्फोट रोकने पर राजनीति हो तो देश की यही दशा होगी जो आज मुसलिमों...

0

यदि सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए कठोर कानून नहीं बनाया तो अपने ही सरकार के खिलाफ भाजपा प्रवक्ता करेंगे आमरण अनशन!

आबादी के बढ़ते स्तर को देखें तो इसमें भारत का बहुत बड़ा योगदान है। जिस देश ने दुनिया में सबसे पहले परिवार नियोजन योजना प्रारम्भ की आज वो सरकारी आंकड़ों के अनुसार दुनिया का...

0

विश्व जनसंख्या दिवस: जनसंख्या नियंत्रण के विषय में सोचना होगा अन्यथा भारत विश्व के गरीबों और मजदूरों की राजधानी बनकर रह जायेगा।

मनु गौड़ । वैज्ञानिकों का कहना है कि मानव सभ्यता की उत्पत्ति को लगभग 1 लाख 30 हजार साल से 1 लाख 60 हजार साल हो चुके हैं और हमें डेढ़ लाख साल लगे...

0

अच्छे दिन, कभी तो आएंगे!

असीमित जनसँख्या वृद्धि, हर तरफ दम घोटू हवा और हम सरकार की तरफ मुंह ताक कर खड़े है कि अच्छे दिन क्यों नहीं आ रहे हैं। ये माना साफ़ हवा,पानी उपलब्ध कराना सरकारों की...

ताजा खबर