TEXT OR IMAGE FOR MOBILE HERE

मतांतरण के कारोबारियों यह माया-अखिलेश का नहीं, योगी का उप्र है। लेने के देने पड़ रहे हैं न?

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले समेत दस जिलों में मतांतरण कराने वाले रैकेट का खुलासा होते ही यूपी पुलिस हरकत में आ गई। यह खुलासा जी टीवी न्यूज चैनल ने किया था। इस खबर के तुरंत बाद ही जौनपुर जिला पुलिस ने बुलंडी गांव जाकर छानबीन की। यह वही गांव है जहां हर रविवार और मंगलवार को ईसाइयों की प्रार्थना सभाएं आयोजित होती हैं। छानबीन करने के बाद यूपी पुलिस ने क्रिश्चनिटी कनवर्जेंस को बढ़ावा देने के मामले में 271 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

वैसे भी अभी यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं, पहले की तरह अखिलेश यादव या मायावती की नहीं जो सिर्फ अपनी कुर्सी की फिक्र में रहते थे। योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री होने का प्रभाव का अंदाजा पुलिस की तत्परता से लगाई जा सकती है।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा बिजली एवं ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा है कि प्रदेश में राजनीतिक संरक्षण में ही क्रिश्चनिटी कनवर्जेंस को बढ़ावा दिया जा रहा है। लेकिन हमारी सरकार में किसी को कितना भी संरक्षण मिले हम उसे कामयाब नहीं होने देंगे। धन बल और बाहु बल पर क्रिश्चनिटी कनवर्जेस को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बुलंडी गांव गई पुलिस टीम का कहना है कि इस मामले के मुख्य आरोप दुर्गादास यादव अभी तक फरार है। गौरतलब है कि दुर्गादास यादव पर ही क्रिश्चनिटी कनवर्जेंस को बढ़ावा देने का आरोप है।

URL: UP Police registered FIR against 271 people for promoting conversion

Keywords: Christianity, conversion, uttar pradesh, yogi adityanth, yogi government, christian missionaries, ईसाइयत, मतान्तरण, उत्तर प्रदेश, योगी आदित्यनाथ, ईसाई मिशनरीज

ISD Bureau

ISD is a premier News portal with a difference.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार