Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: Yogi Adityanath

1

अर्णव गोस्वामी के विरुद्ध साजिशों का कुचक्र रचती सोनिया-पवार-उद्धव सरकार! योगी ने किया बड़ा CBI वाला प्रहार!

रिपब्लिक मीडिया द्वारा महाराष्ट्र सरकार की करतूतों को उजागर करना ‘सोनिया सेना’ की सरकार को पच नहीं रहा है। चाहे पालघर में संतों को पीट-पीटकर हत्या किए जाने का मामला हो या फिर एक्टर...

2

योगी के प्रहार से बेचैन है मुंबई का माफिया वर्ल्ड!

बॉलिवुड की आड़ में चल रहे नशा, हथियार, हवाला और देह मंडी के चल रहे धंधे को बचाने के लिए महाराष्ट्र की पोलिटिकल लॉबी सक्रिय हो चुकी है। महाराष्ट्र की पोलिटिकल लॉबी का अंडरवर्ल्ड...

0

ऐसा कोई कानून नहीं जो योगी आदित्यनाथ को फिल्म सिटी बनाने से रोकता हो

क्या बॉलीवुड की वर्तमान परिस्थितियां इतिहास के दोहराने का संकेत नहीं दे रही? आज बी-टाउन फिल्म निर्माताओं के लिए वही सिचुएशन बन गई है, जो कभी थॉमस एडिसन ने अमेरिकी फिल्म उद्योग के लिए दुर्घटनावश बना दी थी।

3

फिल्मसिटी में जमीन मांगने पहुंचे आजतक के मालिक को योगी जी ने ठेंगा दिखाया

योगी जी ने इन सभी क्षेत्रीय चैनलों के दलाल मालिको को दुत्कारते हुए भगाया। योगी जी ने कहा कि जाओ आज के बाद से तुम लोग हमारे खिलाफ जितना दिखाना चाहते हो, दिखाते रहो।

0

हाथरस कांड पर साजिश, सुनवाई और उत्तर प्रदेश सरकार का हलफनामा! पीएफआई के चार सदस्य गिरफ्तार  !  प्रवर्तन निदेशालय भी जांच में जुटा! 

मोदी और योगी से चारों खाने चित होने वाले राजनीतिक दल भारत की सियासत में तहलका मचाने के लिए हाथरस कार्ड खेल रहे है जबकि इस कांड के पीछे बड़ी साजिश दिख रही है। इस...

0

50 साल की जरूरतों को देखकर बन रहा फ़िल्म सिटी ज़ोन :योगी आदित्यनाथ

ठक में फिल्म उद्योग की कई हस्तियों ने भाग लिया और कई कलाकारों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा योगी जी को अपने सुझाव दिए। योगी ने इस मौके पर देश से वादा किया कि ये फिल्म सिटी विश्व के लिए श्रेष्ठ उदाहरण बनकर उभरेगी।

0

सिनेमाई वटवृक्ष पर बैठे गिद्धों के लिए नोएडा फिल्म सिटी की घोषणा बुरी खबर है

दादा साहेब फाल्के के इस स्वप्न पर ऐसे लोगों नियंत्रण है जो नशे के व्यापारी हैं, जो देश विरोधी है। आज दादा साहेब की आत्मा कितनी दुखती होगी कि उनके उगाए वटवृक्ष पर मांस नोंचने वाले गिद्ध आ बैठे हैं।

2

अलका लाम्बा की अश्लील भाषा और अश्लील राजनीति

कहा जाता है कि राजनीति की डगर महिलाओं के लिए नहीं है, महिलाओं को यहाँ पर हर बात सहने के लिए आना चाहिए. यह बात काफी हद तक सच भी है.  यह सच है...

ताजा खबर