Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: ब्लॉग

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-8

विमल कुमार सिंह। मैं गांव गोद नहीं लूंगा। विजयदशमी के दिन 26 अक्टूबर, 2020 को सुबह-सुबह गोविन्दाचार्य जी मेरे घर पर आ गए थे। जैसा कि मैं पहले बता चुका हूं, तिरहुतीपुर ग्राम पंचायत...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-7

विमल कुमार सिंह। “कर्स आफ नालेज” से बचने की कोशिश कोरोना काल-1 में कई महीनों के चिंतन-मनन और पठन-पाठन के बाद 16 अक्टूबर, 2020 के दिन मैं पत्नी के साथ गांव के लिए रवाना...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-6

विमल कुमार सिंह क्या है हमारे रोडमैप में ? आपको रामचरित मानस का वह प्रसंग बहुत अच्छे से याद होगा जब मां सीता की खोज में हनुमान जी समुद्र पार कर लंका जा रहे...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-5

विमल कुमार सिंह। मई, 2020 में मैंने मिशन तिरहुतीपुर को व्यवस्था परिवर्तन से जोड़ते हुए एक छोटा सा नोट तैयार किया और उसे गोविन्दजी को दिखाया। इस नोट पर गोविन्दजी की प्रतिक्रिया बहुत अच्छी...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-4

विमल कुमार सिंह। अपने स्थायी निवास और कैरियर के बारे में उपयुक्त निर्णय लेने के बाद अब समय था कि मैं पूरी तरह से एकाग्रचित्त होकर मिशन तिरहुतीपुर का काम शुरू करूं। लेकिन उस...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-3

विमल कुमार सिंह। बेटा बड़े होकर क्या बनोगे? अप्रैल, 2020 में यह तो तय हो गया था कि अब मैं दिल्ली में नहीं, बल्कि गांव में रहकर मिशन तिरहुतीपुर का काम करूंगा, लेकिन वहां...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-2

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-2 मेरी कौन सी मनोवैज्ञानक समस्या थी और उसको मिशन तिरहुतीपुर ने कैसे ठीक किया, इस पर बात करने के पहले थोड़ा मेरे बारे में जान लें तो अच्छा रहेगा। मैं अर्थात...

0

मिशन तिरहुतीपुर डायरी-1

मिशन तिरहुतीपुर डायरी का पहला अंक आपके सामने प्रस्तुत है। मेरा प्रयास रहेगा कि आगे से प्रत्येक रविवार दोपहर 12 बजे तक आपको इस डायरी की सामग्री भेज दी जाए। धन्यवाद सहित आपका अपना…विमल...

2

मेरे लिए एक-एक हिंदू जान अमूल्य है।

चलो आज मैं आपको अपना एक संस्मरण सुनाता हूं। यह 2014 का जनवरी-फरवरी महीना था। चुनाव का शोर था। मेरी पुस्तक ‘साजिश की कहनी तथ्यों की जुबानी’ आ चुकी थी। इसमें एक अध्याय केजरीवाल...

0

बंगालियों का अभिजात्य व्यवहार ही है उनका दुश्मन!

BHU में जब 1994 मुझे प्रवेश मिला तो मैं बहुत खुश था। जनेऊ में पंडित जी पूछते हैं, बऊआ पढ़े कहां जायब? उत्तर भी वही बताते हैं, ‘काशी।’ काशी पढ़ने का मेरा सपना साकार...

0

आप अपने परिवार के लिए महत्वपूर्ण हैं, सोशल मीडिया के लिए नहीं!

टीवी न्यूज पर जिस तरह रात-दिन नकारात्मक खबर आती है, वही हाल अब सोशल मीडिया का है। फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्वीटर आदि खोलिए बस- किसी की मृत्यु का पोस्ट, मैं पोजीटिव हो गया, मैं अस्पताल...

0

करोना की न्यूज टीवी पर न देखें। डर आपके रोग प्रतिरोधक क्षमता को नष्ट करता है!

भय आपके रोग प्रतारोधक क्षमता को नष्ट करता है। नकारात्मक ऊर्जा का स्राव आपके शरीर में हार्मोनल असंतुलन पैदा करता है। अतः विनती है कि न्यूज चैनलों को देखना बंद कीजिए, वर्ना आपको अवसाद...

0

बात तीखी है, परंतु यही सच है!

कुछ लोग यह सवाल लेकर आ जाते हैं कि अमेजन पर पुस्तकों पर छूट मिल रही है, वहां शिपिंग चार्ज नहीं लगता, इसलिए आप छूट दीजिए और शिपिंग चार्ज मत लीजिए। अमेजन प्रतिदिन 17cr...

0

यदि महादेव की कृपा रही तो 5 साल बाद हम भारतीय कहानियों को कहने के लिए अपना #OTT Platform लांच कर देंगे।

कल अचानक Live streaming के दौरान यह बात मेरे मुंह से निकल गई। मैंने महसूस किया है कि आज तक जितने भी प्लेटफार्म हमने लांच किया है, वह अचानक उत्पन्न हुई परिस्थितियों से ही...

1

ध्यान से इन नामों को देखिए। यह 2020-21 की टेक्स्टबुक डेवलपमेंट कमेटी के सदस्य हैं, जो #NCERT आदि के लिए तय करते हैं कि हमारे बच्चों को क्या पढ़ाया जाएगा।

इसमें अधिकांश अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय(JNU) के फरहत हसन, नजफ हैदर, रामचन्द्र गुहा जैसे मार्क्सवादी-इस्लामवादी इतिहासकार भरे गये हैं। मोदी सरकार का शिक्षा मंत्रालय पिछले छह साल से मार्क्सवादियों...

0

NCERT की पुस्तकों में दशकों से यह झूठ पढ़ाया जा रहा है कि मुगलों ने हिंदू मंदिरों का नवनिर्माण कराया।

जब RTI लगा कर यह पूछा गया कि इसका संदर्भ (सबूत) दीजिए तो NCERT ने कहा, इसके श्रोत का हमें भी पता नहीं है। यानी NCRT की पुस्तकों में तथ्य नहीं, लाल लंपटों की...

1

एक बार फिर साबित हुआ कि संन्यासी से अच्छा राजा कोई नहीं हो सकता!

बाली वध के उपरांत सुग्रीव को अपराध बोध होता है, और वह प्रायश्चित करते हुए संन्यास के मार्ग पर जाने की बात रामजी से करते हैं। इस पर श्रीराम उन्हें समझाते हुए कहते हैं,...

0

पुरोहितों को ‘ब्राह्मणवाद’ के नाम पर गाली मत दीजिए, वो सनातन संस्कृति के संवाहक हैं!

१) आपने कभी सोचा है कि दुनिया की सभी प्राचीन भाषा को अरबी, तुर्की और यूरोपियन्स ने नष्ट कर दिया, परंतु वह संस्कृत पर लाख हमला करके भी उसे नष्ट क्यों नहीं कर पाए?...

1

India Speaks Daily परिवार के 2 लाख होने पर शुभकामनाएं!

IndiaSpeaksDaily परिवार में शामिल सभी दर्शकों, श्रोताओं, पाठकों और subscribers को ढेर सारी शुभकामनाएं! शुभकामनाएं हिंदी दिवस के साथ-साथ इसी दिन #ISD YouTube Channel के 2 लाख subscribers होने पर। तीन महीने के बैन,...

0

तिलोपा तील कूटते-कूटते तिलोपाद बन गये, आप भी आम जीवन में रहते हुए परमात्मा को पा सकते हो, बस होश साध लो!

ओशो ने आठों प्रहर, 24 घंटे मुझे ध्यान में रहना सिखाया, उन्होंने जीवन को सहज और सरल तरीके से जीने की शिक्षा दी, उन्होंने नकार नहीं, सकार की शिक्षा दी यानी जीवन में जो...

ताजा खबर