Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: supreme court verdict

0

महाराष्ट्र सरकार को फिर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार! कहा, सरकार का तर्क बड़ा अजीब है!

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि हमें यह अजीब लगता है कि महाराष्ट्र सरकार आर्थिक हितों से संबंधित गतिविधियों की अनुमति देने के लिए तैयार हैं, लेकिन बात धर्म की हो...

0

सुप्रीम कोर्ट ने केरल हाईकोर्ट के न्यायधीश से कहा, केरल भारत से बाहर नहीं हैं!

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अरूण मिश्रा ने केरल हाईकोर्ट के आदेश पर कड़ी आपत्ति जताई है। हाईकोर्ट का यह आदेश सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन बताया गया है। केरल के एक चर्च से...

0

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार से कहा, आप मेट्रो का नाश कर देंगे!

मेट्रो में महिलाओं केलिए मुफ्त यात्रा के केजरीवाल महत्वकांक्षी प्रस्ताव को शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट से करारा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस तरह के रियायत और उपहार से तो...

0

राफेल पर राहुल का झूठ हुआ फुस्स, सुप्रीम कोर्ट ने कहा राफेल सौदा संदेह से परे, किसी जांच की कोई जरूरत नहीं!

जिस राफेल सौदा को लेकर राहुल गांधी अगले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने की योजना बना रहे थे, सुप्रीम कोर्ट में उसकी हवा निकल गई है। शुक्रवार यानि आज सुप्रीम कोर्ट...

0

राम मंदिर के लिए अदालत के पास वक्त नहीं, लेकिन सैंडिल और चप्पल की परिभाषा देने के लिए पूरा वक्त है?

देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने पिछले सोमवार को दशकों से चले आ रहे अयोध्या विवाद मामले की सुनवाई तीन मिनट में खत्म करते हुए तीन महीने के लिए उसे लटका दिया।...

0

राम मंदिर पर लोग पूछ रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग मामले में क्या सरकार अध्यादेश ला सकती है, क्या कानून बना सकती है? हां बना सकती है।

कल वीडियो में 1993 में केंद्र सरकार द्वारा अयोध्या पर अदालत में सभी पेंडिंग मामलों के होते हुए भी अध्यादेश लाने पर मैंने दो-दो वीडियो देकर समझाया था कि हां, सरकार अध्यादेश ला सकती...

0

सुप्रीम अदालत के फैसले को दरकिनार कर एनडीटीवी ने क्या अपने एजेंडा पत्रकार रविश कुमार को देश में दंगा कराने का ठेका दिया है

* धर्म को परिभाषित करते हुए अदालत अपनी काल्पनिक चेतना को लागू नहीं कर सकती- जस्टिस इंदु मल्होत्रा * पांचो आरोपियों की गिरफ्तारी दुर्भाग्यपूर्ण है। महाराष्ट्र पुलिस ने प्रेस कांफ्रेस कर मीडिया ट्रायल किया...

0

सुप्रीम अदालत में अर्बन नक्सल मानसिकता को पनपने से पहले ही जस्टिस मिश्रा ने उखाड़ दिया!

सुप्रीम कोर्ट ने देश के प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश रचने वाले अर्बन-नक्सलियों को सलाखों के पीछे भेजे जाने का रास्ता साफ कर दिया है। तीन जजों की बेंच में से मुख्य न्याधीश जस्टिस...

0

व्यभिचार कानून- मी लार्ड! ये तो कम्प्लीट दिवालियापन है!

अभिरंजन कुमार। धारा-497 के मौजूदा स्वरूप का मैं भी समर्थन नहीं करता, लेकिन अदालत ने इसे तर्कसंगत बनाने के बजाय इसे ख़त्म करके सही नहीं किया है। मेरी राय में अदालत का यह फैसला...

0

समलैंगिकता के बाद अब समाज में व्यभिचार बढाएंगे मी-लॉर्ड!

वाह मीलॉड! पहले समलैंगिकता अपराध नहीं और अब इतनी आजादी कि जानवर की प्रत्येक नागरिक किसी से भी यौन संबंध बना सकते हैं! न पति की पत्नी के प्रति कोई जिम्मेदारी न पत्नी की...

0

सुप्रीम कोर्ट अपराधियों के चुनाव लड़ने पर रोक नहीं लगाएगा, उसे तो दही हांडी और दिवाली के पटाखों पर प्रतिबंध लगाने से ही फुर्सत नहीं है!

सुप्रीम कोर्ट अपराधियों के चुनाव लड़ने पर रोक नहीं लगाएगा, उसे तो दही हांडी और दिवाली के पटाखों पर प्रतिबंध लगाने से ही फुर्सत नहीं है!सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वो अपराधी नेताओं के...

0

सांप्रदायिक ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल में अब सुप्रीम कोर्ट से ही आस!

पश्चिम बंगाल में होने वाले पंचायत चुनाव के तहत प्रदेश की जनता हर ओर से निराश और हताश दिखने लगी थी। पूरे प्रदेश में दहशत का ये माहौल है कि तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी...

0

Tarun Tejpal, Teesta setalvad और Nandini Sundar जैसों के लिए जितनी चिंतित है न्यायपालिका, कभी आम जनता के लिए उतनी चिंतित क्यों नहीं होती?

अवधेश कुमार मिश्र। आम और खास में फर्क करने से न्यायपालिका भी अछूती नहीं है! बलात्कार के आरोप में जेल में बंद तरुण तेजपाल को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जो तत्परता दिखाई है, वह...

ताजा खबर