Featured News

संघ की पोल खोल -4 : संघ प्रचारकों का पर्दाफाश
संजीव जोशी। कम्युनल, देशद्रोही, पाकिस्तानी, isi का एजेंट, कांग्रेसी दलाल और भाँती भांति कि उपमायें जिन्हें मैं लिख भी नहीं सकता!सोच रहा हूँ कहाँ से शुरू करूँ? २०१२ से फेसबुक
ट्रिपल तलाक़ पर तुष्टिकरण की राजनीति पर भारी पड़ा सुप्रीमकोर्ट का हथौड़ा!
ये बिहान है, समानता का,तुस्टीकरण पर इंसानियत की चोट का,कठमुल्लो के लालच का! जय हो! सुप्रीम कोर्ट ने अदालत के अंदर चार दशक से कांग्रेस की तुस्टीकरण
संघ की पोल खोल - 3; कम्युनल संघ!
नितिन शुक्ला।‌ संघ एक ऐसा नाम है जो अपने आप में ही कम्युनल है। आप कहीं भी चले जाइए किसी से भी बात कर लीजिए संघ का नाम लेते ही अगर सबसे पहले कोई फिगर समझ में आती है तो वह है कम्युनल एंगल!
संघ में जातिवाद, संघ की पोल खोल-2
‌नितिन शुक्ला। मेरे कई कांग्रेसी मित्र अक्सर कहते थे कि संघ घोर जातिवादी है। उन्होंने ना जाने कौन कौन सी दलीलें दी कि आज तक तक जितने भी सरसंघचालक हुए वह सभी ब्राह्मण थे! संघ दलित विरोधी
किचन से निकले कूड़े से जैविक खाद बनाइये और घर में साग सब्जी उगाइये!
कूड़ा निस्तारण एक बड़ी समस्या बनती जा रही है, घरों से निकलने वाले कूड़े से जैविक खाद बनाने के लिए IIP Foundation ने एक प्रोजेक्ट 'गार्बेज टू गार्डन' की पहल
चलिए आपको एक कहानी सुनाता हूं, झूठे और मक्कारों की!
यह वह दौर था, जब पश्चिम में केवल एक रिलीजन था-यहूदी। एक लड़की किसी लड़के से प्रेम करती थी। शादी से पूर्व ही वह लड़की गर्भवती हो गयी। बिना शादी के कोई लड़की गर्भवती हो जाए
संघ की पोल खोल -1
नितिन शुक्ला! संघ के बारे में आपने सुना तो बहुत कुछ होगा लेकिन मैं आपके सामने आज संघ की ऐसी पोल खुलूँगा की आप सबके दिमाक की बत्ती जल जाएगी, जो संघ नही गए और जो कांग्रेसी और वामपंथी विचारधारा के हैं वे

समाचार

modi-and-sonia

मैडम सोनिया 1969 की कांग्रेस आजादी की लड़ाई कैसे लड़ रही थी? जरा समझाएंगी?

कल लोकसभा में ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 75 वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित विशेष चर्चा में जब श्रीमती सोनिया गाँधी ने स्वतंत्रता की…

मीडिया

Ahmed Patel

लुटियन्स मीडिया के लिए अहमद पटेल की जीत के मायने यदि समझना है तो आप मेरी आपबीती से समझ सकते हैं!

कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के राजनीति सचिव अहमद पटेल राज्यसभा में जीतने में सफल रहे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की लगायी…

लुटियन्स मीडिया के लिए अहमद पटेल की जीत के मायने यदि समझना है तो आप मेरी आपबीती से समझ सकते हैं!


रवीश कुमार आपको सीबीआई अधिकारी की घुटन की बड़ी चिंता है?


रवीश! निष्पक्ष बहस करने की NDTV की हैसियत नहीं और बात करते हो आमने-सामने कैमरा लाइव की? बहस करोगे, है हिम्मत?


राममंदिर को लेकर दैनिक भास्कर की एजेंडावादी पत्रकारिता जारी है।


पत्रकारिता का निकृष्टतम उदाहरण है राजदीप सरदेसाई! इसके मुंह पर सरेआम थूका जाना चाहिए!


प्रधानमंत्री मोदी का रोड शो, अखिलेश-राहुल से ज्यादा उर्मिलेश यादव-राजदीप सरदेसाई को खल रहा है!


मीडिया के फर्जीवाड़े के कारण मर रहे हैं जवान, आखिर कब लगेगी मीडिया के झूठ पर रोक?



भारत निर्माण

किचन से निकले कूड़े से जैविक खाद बनाइये और घर में साग सब्जी उगाइये!

कूड़ा निस्तारण एक बड़ी समस्या बनती जा रही है, घरों से निकलने वाले कूड़े से जैविक खाद बनाने के लिए IIP Foundation ने…

यूरोपीय मन से एक ‘राष्ट्र’ के रूप में भारत को कभी नहीं समझा जा सकता! भारत एक राष्ट्र था, है, और सदा रहेगा!

आप सब एनडीटीवी देखते हैं। आप देखते होंगे कि एनडीटीवी के प्राइम टाइम एंकर रवीश कुमार बहुत चिढ़, कुढ़न और व्यंग्य से राष्ट्र…

राजनीतिक विचारधारा

rss-1

संघ की पोल खोल -4 : संघ प्रचारकों का पर्दाफाश

संजीव जोशी। कम्युनल, देशद्रोही, पाकिस्तानी, isi का एजेंट, कांग्रेसी दलाल और भाँती भांति कि उपमायें जिन्हें मैं लिख भी नहीं सकता!सोच रहा हूँ…