Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Author: Sonali Misra

0

तो क़ुतुब मीनार पर भी तथ्य नहीं है?

एनसीईआरटी में इतिहास में बच्चों के दिमाग के साथ छेड़छाड़ के नए सबूत सामने आ रहे हैं, वैसे तो यह खेल कक्षा एक से ही शुरू हो जाता है, पर कक्षा छ के बाद...

0

मुगलों का झूठा महिमामंडन कब तक?

एनसीईआरटी की कक्षा बारह की इतिहास की पुस्तक में एक नहीं बल्कि कई स्थानों पर या कहें सम्पूर्ण मुग़ल इतिहास का जमकर महिमामंडन किया गया है, और अब यह प्रमाणित हो गया है कि...

0

राम मंदिर को झूठ बताने और मुगलों की महिमा गाने वालों से आज भी सरकार लिखवा रही है NCERT का पाठ्यक्रम!

बच्चों के लिए किताबों का निर्माण करने वाली संस्था एनसीईआरटी क्या हमारे बच्चों के मन में पढ़ाई के बजाय मनगढ़ंत कहानियाँ भरती है? और यदि मनगढ़ंत कहानियाँ ही उनके मन में भरी जा रही...

0

साल भर में उच्चतम न्यायालय के निर्णय, जो सुर्खियाँ बने

यह साल न्याय के लिए भी काफी उतार चढ़ाव वाला रहा, जब कई निर्णय खट्टे और कुछ मीठे रहे। आइये एक नज़र डालते हैं ऐसे ही कुछ निर्णयों पर: 1.  कुछ विशेष परिस्थितियों के...

0

सिस्टर अभया, न्याय में रिलिजन को प्राथमिकता और सीरिएक जोसेफ की भूमिका!

28 साल बाद ही सही, सिस्टर अभया का मामला अंतत: न्याय को प्राप्त हुआ है। परन्तु एक सत्य यह है भी है कि यह मामला कई मोड़ के बाद न्याय की देहरी पर पहुँच...

0

जब तक एक भी नन की आँख में आंसू है, तब तक क्रिसमस का कोई औचित्य नहीं!

क्रिसमस बीत गया है, और जैसा उम्मीद थी कि इस दिन भी किसी भी प्रगतिशील माने जाने वाले लोगों के मुख से यह नहीं निकला कि समय आ गया है जब चर्च क्रिसमस बाद...

0

कन्फेशन बॉक्स और चर्च में बाल यौन शोषण!

मार्टिना (नाम हो सकता है असली न हो, कहानी असली है) आठ बरस की थी, जब उसके साथ एक पादरी ने उसके साथ कैथोलिक एलेमेन्टरी स्कूल में कन्फेशन बॉक्स में यौन शोषण किया।   उन्होंने...

0

सिस्टर अभया का बलात्कार और चर्च का क्रिसमस जश्न

सीबीआई  न्यायायलय ने आज एक महत्वपूर्ण निर्णय देते हुए सिस्टर अभया के कातिलों को दोषी माना है, और उन्हें कल सजा सुनाई जाएगी। सिस्टर अभया को 28 साल बाद न्याय मिला।उन्होंने मुख्य पादरी फादर...

2

कमालरुख खान, असली अल्पसंख्यक पर की गयी मजहबी कट्टरता पर बौद्धिक चुप्पी

“मैं उम्मीद करती हूँ, कि यह धर्मांतरण विरोधी नियम पूरे देश में लागू हो और इससे हम जैसी स्त्रियों का संघर्ष कम हो जो अंतर्जातीय (अंतर्धार्मिक) शादियों में मजहब के जहर से लड़ रही...

5

अहल्या के मामले में पीड़ित कौन है?

कल दशहरा बीत गया और जैसा जाहिर था कि एक बार फिर राम जी को नीचा दिखाने के कुप्रयास के साथ यह दिवस समाप्त हुआ. यह तय ही था कि आज ही फिर से...

0

Amnesty International, an Stooge of White West, i.e. London and USA तो अंग्रेजों की खुफिया एजेंसी है एमनेस्टी!

वह एक ऐसी संस्था है, जो सर्वव्यापी है। उसके कई हाथ हैं, कई चेहरे हैं। कई काम और कई नाम हैं। पर यदि सबको मिलाकर देखा जाए तो इतने नामों और रूपों का एक...

0

वामपंथी जहर के खिलाफ साहित्य अमृत का रजत जयन्ती अंक

गत वर्ष एक वामपंथी साहित्यकार ने एक पत्रिका के विमोचन के अवसर साहित्यअमृत पत्रिका पर अत्यंत ही उपहासजनक टिप्पणी की थी कि पत्रिका का स्तर बनाए रखना, नहीं तो छप तो साहित्य अमृत भी...

0

हिंदी को सेक्युलरिज्म से मुक्त करने की शपथ लें

हिंदी दिवस के नाम पर आज काफी लिखा जाएगा तथा कई षड्यंत्रों से हिंदी को जनता से दूर करने वाले आज फिर से इस दिवस पर आंसू बहाएंगे! मगर वह आज के दिन हिंदी...

2

हर कीमत पर सच का गला दबाना चाहते हैं शहरी नक्सली और इस्लामी गठजोड़

दिल्ली दंगों पर Bloomsbury से किताब का प्रकाशन रुकवाने के बाद भी शहरी नक्सलियों को चैन नहीं है।  लोगों तक सच न जाए इस कारण वह हर तरह के कदम उठा रहे हैं। ताजा...

2

कबीर ने भी लिखी स्त्री विरोधी पंक्तियाँ, फिर वामपंथियों ने तुलसी पर क्यों प्रहार किया

वह दिनों दिन हमें तोड़ने के लिए कुछ न कुछ नया सामने लाते हैं। जब तुलसीदास को जनता की दृष्टि से गिराने में सफल न हो पे, तो अकादमिक में एक नया विमर्श वामपंथी...

1

संसार का सबसे बड़ा हरम, जहाँ घोड़े से सस्ती बिकती थी लड़कियां!

हरम! हमारे सामने जैसे ही हरम का नाम आता है, उसे लेकर पश्चिमी इतिहासकारों में हमेशा से ही एक आकर्षण रहा है। यह आकर्षण इतना ज्यादा है कि इसी बात पर मुगल सुल्तानों को...

1

हिन्दुओं में लड़की ब्याहने पर मिलेगा मृत्युदंड – जहाँगीर

इतिहास में गंगा जमुना तहजीब के चलते कई झूठी बातों को हमें घुट्टी के रूप में पिलाया गया है। जहाँगीर (real name Nur-ud-din Muhammad Salim) को हिन्दुओं के प्रति अति न्यायप्रिय घोषित किया है,...

0

Bloomsburry पर चलना चाहिए दफा 420 का मुकदमा क्योंकि उसने शाहीन बाग़ पर गलत तथ्यों के साथ किताब छापी है– प्रशांत पटेल

Bloomsbury ने दिल्ली दंगों पर लिखी गयी किताब Delhi Riots 2020: The Untold Story का प्रकाशन तो वामी-इस्लामी लॉबी के दबाव में आकर वापस लेने का निर्णय ले लिया है मगर उसकी परेशानियां अब...

1

खालिद हुसैनी और विलियम डेरिम्पल के पैरों पर गिर खोई Bloomsbury ने अपनी स्वायत्ता

दिल्ली दंगों की सच्चाई बताने वाली किताब से Bloomsbury ने अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं. मगर यह कदम bloomsbury india का न होकर bloomsbury London का है. bloomsbury London को हिन्दुओं से दिल...

2

देश तोड़ने वाला शाहीन बाग़ क़ुबूल: दिल्ली दंगों के सच से इंकार, शर्मनाक Bloomsbury

तो अंतत: अभिव्यक्ति की आज़ादी का रोना रोने वाले जीत गए और उनके आगे एक प्रकाशक हार गया. सनद रहे कि जो bloomsbury India ने Delhi Riots: The Untold Story, प्रकाशित करने को लेकर...

ताजा खबर