Tagged: Sandeep Deo‬

1

गांधी जी और शास्‍त्री जी में कुछ समानता, लेकिन ढेर सारी असमानता!

महात्‍मा गांधी व लालबहादुर शास्‍त्री- दोनों की जयंती एक ही दिन होती है। दोनों में कुछ बातें समान थीं, जैसे- दोनों बेहद सादगी से जीते थे और दोनों स्‍वयं के प्रति ईमानदार थे। दोनों...

0

हिंदी कविता- ‘बुर्जुआ’

लाखों बार कुर्बान ऐसे ‘बुर्जुआ’ पर…. बाजार से गुजर रहा था, तुम आगे थी, और मैं पीछे। देखा, एक गुलाब वाला बुजुर्ग गुमशुम-सा बैठा था, उसका बेटा गुलाब समेटने की तैयारी में था, सोचा...

0

हरतालिका तीज और हिंदू दर्शन!

आज हमारे यहां हरतालिका तीज है। गांव में मां, और यहां दिल्ली में श्रीमती श्वेता देव और मेरे छोटे भाई की पत्नी मीनू देव, अपने अपने पति के लिए व्रत की हुई हैं। मान्यता...

0

हिंदू हैं तो चाणक्य की तरह कुटिल बनिए, अभिमन्यु की तरह निर्दोष नहीं!

कुछ लोगों के कारण कल मुसीबत में फंसना पड़ा। इटालियन बहु के वीडियो वाली पोस्ट कर कुछ लोगों ने उनके लिए जमकर अपशब्दों का प्रयोग किया, गुस्से वाली इमोजी का प्रयोग किया। हो सकता...

0

कविता- दुःख नहीं स्वीकार करो, मृत्यु से भी प्यार करो!

दुःख नहीं, स्वीकार करो, मृत्यु से भी प्यार करो! एक छोर पर जीवन है, दूसरी छोर पर मौत खड़ी! जीवन जब जी भर कर जिया, मृत्यु को भी भरपूर जियो! मृत्यु एक अटल सत्य...

0

राष्ट्रवादी साथियों से एक अनुरोध…

#IndiaSpeaksDaily को सपोर्ट करने के लिए आप सबका धन्यवाद! कल एक दिन में 60 हजार से अधिक ट्रैफिक आ गया, जिसके कारण कई लोगों को वेब ओपन करने में दिक्कत आयी, जिसके लिए क्षमाप्रार्थी...

0

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद…

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद… ॐ कुर्वत्रेवेह कर्माणि जिजीविषेच्छतँ समा:। एवं त्वयि नान्यथेतोअस्ति न कर्म लिप्यते नरे ।। ऑनलाइन सत्संग आइए चलें उपनिषदों की यात्रा पर… ऑनलाइन सत्संग, जहाँ वेद समाप्त होते हैं, वहां से उपनिषद...

0

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद श्लोक-2

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद… श्लोक-2 ॐ ईशा वास्यमिद्म सर्वं यत्किंचित जगत्यां जगत् । तेन त्यक्तेन भुंजीथा मा गृधः कस्य स्विद्धनम् ।। ऑनलाइन सत्संग आइए चलें उपनिषदों की यात्रा पर… ऑनलाइन सत्संग, जहाँ वेद समाप्त होते...

0

कोई जब अपने पूजा घर में रखे गुल्लक को फोड़ कर आपको दान देता हो, तो फिर आपकी जिम्मेदारी काफी बढ़ जाती है!

कल सोशल मीडिया के एक मित्र ने #IndiaSpeaksDaily के एक वीडियो की टिप्पणी में लिखा कि सर मैं आपसे मिलना चाहता हूं। मेरी टीम ने इसे देखा और मुझे बताया। मेरा दरवाजा तो रात-दिन...

0

ऑनलाइन सत्संग, जहाँ वेद समाप्त होते हैं, वहां से उपनिषद शुरू होते हैं।

ऑनलाइन सत्संग, पहला उपनिषद है ईशावास्य उपनिषद, जहाँ वेद समाप्त होते हैं, वहां से उपनिषद शुरू होते हैं इसलिए इन्हें वेदान्त भी कहा जाता है। ॐ पूर्णमद: पूर्णमिदं पूर्णात्पूर्णमुदच्यते । पूर्णस्य पूर्णमादाय पूर्णमेवावशिष्यते ।।...

0

आइए चलें उपनिषदों की यात्रा पर…

कुछ लोगों को आपत्ति है कि मैं बिना संस्कृत जाने उपनिषदों पर क्यों बोल रहा हूं? मेरा ऐसा कोई दावा नहीं है कि मैं उपनिषदों का ज्ञाता हूं। मुझे तो इसमें उतरने में रस...

0

हमारे पौराणिक कथाओं को दूषित कर संस्कृति पर हमले का एक नया सिलसिला शुरू!

हमारे पौराणिक कथाओं को दूषित कर संस्कृति पर हमले का एक नया सिलसिला शुरू है…सचेत होइए! Keywords:Hindu mythology, Hinduism, hindu dharm, sanatan, Sandeep Deo‬, हिन्दू धर्म, सनातन यात्रा, हिंदू पौराणिक कथाएं, संदीप देव, सुनो-सुनाओ

धोनी : ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ को इंडोर्स करने वाले पत्रकारों को ‘भारत माता की जय’, भला कैसे अच्‍छी लग सकती है?

क्रिकेट कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कल बंगलादेश पर जीत के बाद प्रेस वार्ता में एक पत्रकार को धो दिया! धोना चाहिए भी था! वामपंथी-कांग्रेसी पत्रकार देश में बढ़ रही देशभक्ति की भावना से...

जिन्‍हें आप ‘चमार’ जाति से संबोधित करते हैं, दरअसल वह चंवरवंश के वीर क्षत्रिए थे

आज जिन्‍हें आप ‘चमार’ जाति से संबोधित करते हैं, उनके साथ छूआछूत का व्‍यवहार करते हैं, दरअसल वह वीर चंवरवंश के क्षत्रिए हैं। ‘हिंदू चर्ममारी जाति: एक स्‍वर्णिम गौरवशाली राजवंशीय इतिहास’ पुस्‍तक के लेखक...

जब पंडित नेहरू भारत पर दोबारा से शासन करने के लिए लॉर्ड माउंटबेटन को मनाने गए

14 अगस्‍त की रात को ब्रिटेन ने भारत की सत्‍ता कांग्रेस को हस्‍तांतरित कर दिया था। विभाजन के कारण देश में गृहयुद्ध की स्थिति थी। नेहरू इस पर नियंत्रण स्‍थापित करने में असफल साबित...

मुसलमानों में राष्‍ट्रवाद नहीं होता है: रविंद्रनाथ टैगोर

देश का इतिहास कांग्रेसियों और वामपंथियों ने लिखा और उन्‍होंने टैगोर से जुड़े दो तथ्‍यों को इतिहास की पुस्‍तकों से न केवल हटाया, बल्कि इसकी पूरी व्‍यवस्‍था की कि भविष्‍य की पीढ़ी इसके बारे...

कश्‍मीर विवाद: जब शेख अब्‍दुल्‍ला को सरदार पटेल ने संसद के अंदर दी थी धमकी!

कश्‍मीर विवाद पर शेख अब्‍दुल्‍ला को सरदार पटेल की धमकी कश्‍मीर मसले पर पंडित नेहरू शेख अब्‍दुल्‍ला की हर नाजायज मांगों को मान रहे थे और शेख संसद के अंदर खुलेआम धमकी की भाषा बोल...

ताजा खबर